close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पर्रिकर की सीट से बेटे को नहीं मिला बीजेपी से ट‍िकट, बोले-पिता नहीं चाहते थे राजनीति में आऊं, लेक‍िन...

भाजपा ने पणजी विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए रविवार को पूर्व विधायक सिद्धार्थ कुनकोलीनकर को प्रत्याशी बनाया है. उत्पल ने हालांकि यह भी कहा कि वह एक स्वतंत्र व्यक्ति है, जिसकी अपनी पहचान है.

पर्रिकर की सीट से बेटे को नहीं मिला बीजेपी से ट‍िकट, बोले-पिता नहीं चाहते थे राजनीति में आऊं, लेक‍िन...
घोषणा से पहले पणजी सीट के लिए उत्‍पल पर्रि‍कर का नाम भी चल रहा था. फोटो : एएनआई

पणजी: गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत मनोहर पर्रिकर के पुत्र उत्पल पर्रिकर ने कहा है कि उनके पिता कभी नहीं चाहते थे कि वह राजनीति में आयें. भाजपा ने पणजी विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए रविवार को पूर्व विधायक सिद्धार्थ कुनकोलीनकर को प्रत्याशी बनाया है. उत्पल ने हालांकि यह भी कहा कि वह एक स्वतंत्र व्यक्ति है, जिसकी अपनी पहचान है.

पणजी सीट से मौजूदा विधायक मनोहर पर्रिकर के 17 मार्च को निधन होने के बाद इस सीट पर उपचुनाव कराया जा रहा है. इस तरह की अटकलें थी कि उत्पल को टिकट दिया जायेगा लेकिन पार्टी ने सिद्धार्थ को चुना.

उत्पल ने पत्रकारों से कहा कि उनके पिता नहीं चाहते थे कि मैं राजनीति में आऊं. इसे पारिवारिक राज नहीं कहा जा सकता. अब मेरे पिता नहीं हैं. मैं एक स्वतंत्र व्यक्ति हूं. मेरी अपनी स्वतंत्र पहचान है.

उन्होंने कहा, ‘यह कहा जाता है कि जब भी आप व्यवस्था को ठीक करने के लिए राजनीति में शामिल होना चाहते हैं, तो बाधाएं रास्ते में आती हैं. यहां तक कि मेरे पिता ने भी बाधाओं का सामना किया था.’

एक सवाल के जवाब में, उत्पल ने कहा कि निर्वाचन क्षेत्र के लिए टिकट को लेकर गतिरोध था, जिसे मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के हस्तक्षेप के बाद सुलझा लिया गया था.