close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत आतंकवाद से लड़ने में सक्षम, किसी भी तरह की मदद नहीं चाहिए : वेंकैया नायडू

पैराग्‍वे में उप राष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि आतंकवाद मानवता का दुश्‍मन है. आतंकवाद को कोई धर्म नहीं होता. यह बे‍हद खराब है. इसे धरती से मिटा देना चाहिए.

भारत आतंकवाद से लड़ने में सक्षम, किसी भी तरह की मदद नहीं चाहिए : वेंकैया नायडू
उप राष्‍ट्रपति ने पाकिस्‍तान पर भी निशाना साधा. फोटो ANI

नई दिल्‍ली : पैराग्‍वे के दौरे के दौरान उप राष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू ने बुधवार को वहां भारतीय समुदाय को संबोधित किया. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि भारत में आतंकवाद से लड़ने के लिए हमें किसी तरह की कोई मदद नहीं चाहिए, हम पूरी तरह से सक्षम हैं. उन्‍होंने भारतीय वायुसेना की ओर से की गई एयर स्‍ट्राइक पर कहा कि हमने हाल ही में अपनी क्षमताएं दिखा दी हैं. जब सीआरपीएफ पर हमला हुआ और हमारे 40 जवान शहीद हुए तो हमने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया. भारतीय वायुसेना ने पाक सेना पर हमला नहीं किया. यहां तक कि एक भी पाक नागरिक को भी नुकसान नहीं पहुंचा है.

 

पैराग्‍वे में उप राष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि आतंकवाद मानवता का दुश्‍मन है. आतंकवाद को कोई धर्म नहीं होता. यह बे‍हद खराब है. इसे धरती से मिटा देना चाहिए. यह तब ही संभव है जब पूरा अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय आतंक के खिलाफ साथ आए.

पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) में भारतीय वायुसेना की ओर से 26 फरवरी को जैश-ए-मोहम्‍मद के आतंकी ठिकानों पर की गई एयर स्‍ट्राइक पर सवाल उठाने वालों और मारे गए आतंकियों की संख्‍या पर चल रही तनातनी पर भी उप राष्‍ट्रपति ने बात की. उन्‍होंने कहा कि अब एयर स्‍ट्राइक में मारे गए आतंकियों की संख्‍या को लेकर देश में चर्चा हो रही है. ये उनके लिए है कि वे आतंकियों की संख्‍या गिनें. उन्‍होंने कहा कि गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी कहा है कि जिसे इस मामले में शंका हो, वे पाकिस्‍तान जा सकते हैं और पाकिस्‍तान सरकार से पूछ सकते हैं.

उप राष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि हम अपने पड़ोसी देशों के साथ भी अच्‍छे संबंध चाहते हैं. उन्‍होंने पाकिस्‍तान पर निशाना साधते हुए कहा कि लेकिन हमारा एक पड़ोसी ऐसा भी है, जो आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है. वह आतंकवादियों को फंडिंग, मदद और ट्रेनिंग मुहैया करा रहा है. वह कई बार सार्वजनिक रूप से आतंक के खिलाफ लड़ने की बात कह चुका है, लेकिन वह आतंकवाद की फंडिंग नहीं रोक रहा है.