कोरोना के डर से कहीं आपकी भी नींद तो नहीं उड़ गई? यहां जानें असली वजह और इसके उपाय

ज्यादातर लोगों को शिकायत है कि कोरोना के प्रकोप और इसके बाद लॉकडाउन के चलते उनकी नींद उड़ गई है. 

कोरोना के डर से कहीं आपकी भी नींद तो नहीं उड़ गई? यहां जानें असली वजह और इसके उपाय

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के मामले हर दिन के साथ बढ़ते जा रहे हैं. वहीं इससे जुड़ी खबरों ने आपको इतना परेशान कर रखा है कि आप सोते-सोते चौंक कर उठ जाते हैं. ज्यादातर लोगों को शिकायत है कि कोरोना के प्रकोप और इसके बाद लॉकडाउन के चलते उनकी नींद उड़ गई है.

ये हमेशा एंग्जाइटी यानी चिंता में रहते हैं. कल का डर उन्हें सताता है. सोशल डिस्टेंसिंग से परेशान हैं और उन्हें ऊब होने लगी है. दिन में आलस सा बना रहता है और रात को एक तो नींद नहीं आती, दूसरा आती भी है, तो उचटती हुई. हो सकता है कि ऐसी दिक्कत का सामना आप भी कर रहे हों. अगर ऐसा है, तो आप कुछ खास बातों को फॉलो कर इस समस्या का समाधान कर सकते हैं.

मुंबई की थेरेपिस्ट डॉक्टर सामंथा कोस्टाबिर कहती हैं, ‘मेरे 90 प्रतिशत मरीज डर और एंग्जाइटी की वजह से नींद न आने की शिकायत कर रहे हैं. स्लीप डिसऑर्डर एक सामान्य सी बात होने लगी है. इसकी वजह से सुबह उठते समय चिड़चिड़ाहट, बदन दर्द और सिरदर्द महसूस होता है.

डॉ. कोस्टाबिर ने इसे लेकर कुछ उपाय बताए हैं. आईए जानते हैं कुछ खास टिप्स जो अभी आपको राहत देने का काम करेंगे...

 बेड पर जल्दी जाएं: रात को समय से डिनर करने के बाद 10 बजे से पहले बेड पर चले जाएं. मोबाइल या लैपटॉप पर कुछ न देखें. आंखें बंद कर लेट जाएं. नींद आए, चाहे नहीं. इसे स्लीप होमियास्टेट की स्थिति कहते हैं. इस तरह भी आपके शरीर को भरपूर आराम मिलेगा. इस बीच नींद न आने पर न लाइट जलाएं न मोबाइल. शांति से लेटे रहें.

Lockdown के समय में अपने घर का ऐसे रखें ख्याल, दूर होगी नेगेटिविटी

समय पर बिस्तर से उठ जाएं: सोने और जागने की रुटीन का सख्ती से पालन करें. बिस्तर पर बेमतलब लेटे रहेंगे तो न दिन का एजेंडा बनेगा, ना ही आराम मिलेगा. फिर दिन भर आलस में ही बीतेगा.

सोने से घबराहट: कुछ लोगों के साथ ऐसा भी हो रहा है कि वह बिस्तर पर जाते ही डरने लगते हैं, उन्हें सोने से ही घबराहट होने लगती है. वह लगातार डरे रहते हैं कि पता नहीं कल सुबह उठते ही, कौन सी बुरी खबर सुनने को मिले. 

विशेषज्ञ कहते हैं कि इस डर को अपने अंदर से निकालने के लिए पॉजिटिव सोचें. निगेटिव बात न करें, ना ही ऐसे लोगों से बात करें जो आपको डराते हैं. बिस्तर में जाने से पहले गर्म दूध या गर्म पानी में हल्दी डाल कर पिएं. लंबी सांस लें या प्राणायाम करें. गर्मियां आ गई हैं, तो आप पानी में यूकेलिप्टस की कुछ बूंदें डाल कर नहा सकते हैं. इन सबसे एंग्जाइटी कम होगी.

बिस्तर पर जाने से पहले शराब न पिएं और ना ही बिस्तर पर बैठ कर ऑफिस का काम करें.

दिन की प्लानिंग: सुबह उठते ही अपने दिन की प्लानिंग कर लें. इसमें आधे घंटे का व्यायाम, घर के काम और ऑफिस के काम के साथ ही अपने शौक के लिए भी समय होना चाहिए. दिन में न सोएं. पूरे दिन में दो से तीन बार खबरें देखें. अगर आप दिन भर बिजी रहते हैं, तो रात तक थक कर आपको सुकून की नींद आएगी.