close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

48 साल बाद जयपुर से महिला उम्मीदवार मैदान में, कांग्रेस ने दिया ज्योति को टिकट

इससे पहले 1962, 1967 और 1971 में लगातार तीन बार स्वतंत्र पार्टी से गायत्री देवी सांसद रही थीं. 

48 साल बाद जयपुर से महिला उम्मीदवार मैदान में, कांग्रेस ने दिया ज्योति को टिकट
जयपुर की कांग्रेस प्रत्याशी शहर की महापौर भी रह चुकी हैं. (फोटो साभार: फेसबुक)

जयपुर: राजस्थान में 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की पहली सूची जारी हो गई है. पहली सूची में कांग्रेस ने तीन महिलाओं को चुनावी मैदान में उतारा है. जिसमें जयपुर शहर से 48 साल बाद पहली बार महिला ज्योति खंडेलवाल के तौर पर महिला प्रत्याशी चुनावी मैदान में होंगी. 

इस बार के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने तमाम प्रयास और अनुमानों को दरकिनार करते हुए पूर्व महापौर ज्योति खंडेलवाल को जयपुर लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में उतार कर सबको चौंका दिया है. जयपुर लोकसभा सीट से महिला प्रत्याशी को 48 साल यहां से टिकट मिला है. इससे पहले 1962, 1967 और 1971 में लगातार तीन बार स्वतंत्र पार्टी से गायत्री देवी सांसद रही थीं. 

जयपुर के अलावा नागौर से ज्योति मिर्धा और दोसा से सविता मीणा भी महिला प्रत्याशी के तौर पर चुनावी मैदान में है. हालांकि कांग्रेस ने पिछली बार 6 महिला प्रत्याशी उतारे थे, लेकिन इनमें से एक भी महिला चुनाव में नहीं जीत पाई थी. बताया जा रहा है कि राज्य की शेष 6 लोकसभा सीटों में से एक या दो सीटें महिला उम्मीदवारों को मिल सकती है. 

जानिए जयपुर लोकसभा सीट का इतिहास 
जयपुर में लोकसभा सीट में 20,88,058 मतदाता हैं. जिनमें महिलाओं की संख्या 9,87,797 जबकि पुरूष मतदाता की संख्या 10,99,214 है. इस सीट से कांग्रेस की तरफ से 2009 में डॉ महेश जोशी ने चुनाव जीता था. लेकिन 2013 में भाजपा के ब्राह्मण चेहरे रामचरण बोहरा ने महेश जोशी को 5,39,355 मतों से पराजित किया था. जो कि देश में सबसे ज्यादा मतों से होने वाली चौथी सबसे बड़ी जीत थी. 

प्रत्याशी के लिए इन नामों की रही चर्चा 
इस सीट पर कांग्रेस की तरफ से इस बार महेश जोशी के नाम को लेकर भी चर्चा हो रही थी. इसके अलावा मालवीय नगर विधानसभा चुनाव से सबसे कम मतों से हारने वाली अर्चना शर्मा के नाम पर भी मंथन हुआ. लेकिन आखिरकार पार्टी ने ब्राह्मण चेहरे रामचरण बोहरा के सामने वैश्य और महिला चेहरा ज्योति खंडेलवाल के नाम पर दांव लगाया. 

प्रत्याशी चयन के पीछे ये रहे फैक्टर 
ज्योति खंडेलवाल को प्रत्याशी बनाने के पीछे जो अहम फैक्टर है उनमें उनका 2009 में महापौर के चुनाव में जीत दर्ज करना भी रहा. उस चुनाव में ज्योति ने जयपुर शहर से 432000 वोट हासिल की थी. उन्होंने बीजेपी की सुमन शर्मा को 13 हजार से ज्यादा मतों से हराया था. इसके अलावा आखिरी समय में शक्ति प्रोजेक्ट के सर्वे रिपोर्ट विवेक बंसल की रिपोर्ट से कारण भी ज्योति खंडेलवाल को टिकट मिलने में आसानी हुई.