close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'आप' की नेता आतिशी बनीं बीजेपी-कांग्रेस के उम्मीदवारों के लिए बड़ी चुनौती

आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी की बात करें तो उन्होने दिल्ली के सरकारी स्कूलों की काया पलटने में बेहतरीन योगदान दिया है.

'आप' की नेता आतिशी बनीं बीजेपी-कांग्रेस के उम्मीदवारों के लिए बड़ी चुनौती
आतिशी ने ही दिल्ली के सरकारी स्कूलों में हैप्पीनेस करिकुलम की शुरुआत की

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी लोकसभा चुनाव 2019 में पूर्वी दिल्ली से उम्मीदवार है. 'आप' उम्मीदवार आतिशी के सामने चुनावी मैदान में बीजेपी के उम्मीदवार गौतम गंभीर और कांग्रेस के दिग्गज नेता और प्रत्याशी अरविदर सिंह लवली है. जानकारों के मुतबिक पूर्वी दिल्ली में लोकसभा सीट पर मुकाबला त्रिकोणीय है. 

आम आदमी पार्टी की नेता आतिशी की बात करें तो उन्होने दिल्ली के सरकारी स्कूलों की काया पलटने में बेहतरीन योगदान दिया है. साथ ही वह पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति की सदस्या भी हैं. यहां तक कि आतिशी दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की सलाहकार रह चुकी हैं. लेकिन केंद्र के बढ़ते दबाव के चलते उन्हें अप्रैल 2018 में इस पद से हटा दिया गया था. इसका कई लोगों ने विरोध जताया था. नेताओं से लेकर फिल्मी सितारों ने आतिशी के समर्थन में आवाज उठाई थी.

साथ ही आम आदमी पार्टी ने उन्हें पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट का प्रभारी नियुक्त किया. बता दें कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों में आए क्रांतिकारी बदलाव के पीछे आतिशी का बहुत बड़ा योगदान हैं. माना जाता है कि उनके ही सुझाव पर दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने आमूल-चूल परिवर्तन किया. आतिशी ने ही दिल्ली के सरकारी स्कूलों में हैप्पीनेस करिकुलम की शुरुआत की. बतौर सलाहकार काम करने के लिए वो दिल्ली सरकारी से एक रुपये प्रति माह सैलरी लेती थीं.

वहीं आतिशी के व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो आतिशी की पढ़ाई दिल्ली के स्प्रिंगडेल स्कूल में हुई. जिसके बाद उन्होंने सेंट स्टीफेंस कॉलेज से बैचलर डिग्री हासिल की. बता दें कि आतिशी सेंट स्टीफेंस में टॉप किया था, बाद में उन्होंने रोड्स स्कॉलशिप लेकर ऑक्सफोर्ड से मास्टर्स किया. राजनीति में आने से पहले आतिशी आंध्र प्रदेश के ऋषि वैली स्कूल में इतिहास पढ़ाती थीं. उन्होंने कई एनजीओ के साथ भी काम किया हैं. 

फिलहाल आतिशी दिल्ली की महत्वपूर्ण लोकसभा सीटों में गिनी जाने वाली सीट पूर्वी दिल्ली से चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रही हैं. हालांकि बीजेपी ने भी अपने दमदार उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है. लेकिन अब देखना ये है कि क्या पूर्वी दिल्ली की जनता आतिशी को अपना नेता चुनेगी?