close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गाजीपुर से मनोज सिन्हा को हराकर अफजाल बोले, 'कठिन परिस्थितियों में ये चुनाव लड़ा और जीता'

 उन्होंने इस जीत के लिए गाजीपुर की जनता, बसपा और सपा के कार्यकर्ताओं का ऋणी रहूंगा और अंतिम दम तक उनके विकास और उनके लिए दुख सुख में कार्य करता रहूंगा. बहुत ही कठिन परिस्थितियों में हमने ये चुनाव जीता है. 

 गाजीपुर से मनोज सिन्हा को हराकर अफजाल बोले, 'कठिन परिस्थितियों में ये चुनाव लड़ा और जीता'
देर रात जिलाधिकारी ने अफजाल अंसारी को जीत का प्रमाण पत्र दिया.

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के 80 सीटों में एक गाजीपुर लोकसभा चुनाव के नतीजे सामने आ गए हैं. इस सीट से बीएसपी उम्मीदवार अफजाल अंसारी ने बीजेपी के मनोज सिन्हा को चुनावी रण में मात दी है. मोदी कैबिनेट में कद्दावर मंत्री रहे और दो मंत्रालय का प्रभार संभाल रहे मनोज सिन्हा को 1,20,956 वोट से हराने वाले गठबंधन से बसपा प्रत्याशी अफजाल अंसारी ने मुस्कुराते कहा कि बहुत कठिन परिस्थितियों में ये चुनाव लड़ा और जीता. उन्होंने इस जीत के लिए गाजीपुर की जनता, बसपा और सपा के कार्यकर्ताओं का ऋणी रहूंगा और अंतिम दम तक उनके विकास और उनके लिए दुख सुख में कार्य करता रहूंगा. बहुत ही कठिन परिस्थितियों में हमने ये चुनाव जीता है. 

विकास बनाम विनाश के ऊपर हुए इस चुनाव पर उन्होंने खुद कहा कि जनता ने मुझे जीता दिया है और केंद्र में मोदी सरकार बना दिया, तो वो क्या कर सकेंगे ये आपको भी समझना होगा. लेकिन फिर भी उन्होंने दावा किया कि संविधान बचने के साथ जनता के दुख-सुख और सतत विकास के लिए प्रयत्नशील रहेंगे.

उन्होंने कहा कि जीतने वाले को हारने वाले माला पहनते रहे हैं, जिसका रिवाज आज टूट गया है. उन्होंने बताया कि 5 बार जब भी वे जीते, तो हारने वाले उन्हें माला पहनाई. मुस्कुराते हुए उन्होंने कहा कि जब वह हारे तो उन्होंने जितने वाले तत्कालीन बीजेपी विधायक को फूलों की माला पहनाकर स्वागत किया था. 

लाइव टीवी देखें

हालांकि अफजाल अंसारी ने भाजपा विधायक का नाम नहीं लिया लेकिन उस विधायक का नाम कृष्णानंद राय था, जिनकी बाद में हत्या हुई और उसके इल्जाम में वो खुद जमानत पर हैं और उनके छोटे भाई मऊ विधायक बाहुबली मुख्तार अंसारी आज भी जेल में है. 

आपको बता दे कि 23 मई की सुबह 8 बजे से मतगढ़ना शुरू हुई थी. बसपा प्रत्याशी अफजाल अंसारी ने जो बढ़त ली, तो वह 27वें राउंड तक रुके नहीं. हर राउंड में वह जीत का अंतर बढ़ते ही गए और अंत मे  कुल 56,41,144 पाकर जीत का इतिहास रच दि. वहीं, बीजेपी के मनोज सिन्हा को भी 4,43,188 वोट मिले. देर रात जिलाधिकारी ने अफजाल अंसारी को जीत का प्रमाण पत्र दिया.