close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आम चुनाव 2019: राजस्थान BJP का आरोप, CM अशोक गहलोत सरकारी मशीनरी का कर रहे दुरुपयोग

इस मुद्दे पर बीजेपी नेता राजेन्द्र राठौड़ ने गहलोत सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि जहां राज्य की कानून-व्यवस्था बदहाल हो रही है और सीएम अपने बेटे को जिताने के लिए जोधपुर में डेरा डाले हुए हैं.  

आम चुनाव 2019: राजस्थान BJP का आरोप, CM अशोक गहलोत सरकारी मशीनरी का कर रहे दुरुपयोग
कांग्रेस के नेताओं ने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया है. (फाइल फोटो)

जयपुर: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में राज्य के सीएम अशोक गहलोत पर बीजेपी ने गंभीर आरोप लगाया है. बीजेपी नेताओं ने कहा है कि गहलोत अपने बेटे वैभव के चुनाव प्रचार के दौरान सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर रहे हैं. जबकि, कांग्रेस के नेताओं ने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया है.

इस मुद्दे पर बीजेपी नेता राजेन्द्र राठौड़ ने गहलोत सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि जहां राज्य की कानून-व्यवस्था बदहाल हो रही है और सीएम अपने बेटे को जिताने के लिए जोधपुर में डेरा डाले हुए हैं.  

कांग्रेस नेताओं ने बीजेपी के आरोप को किया खारिज
वहीं, कांग्रेस के नेताओं ने इन आरोपों का खारिज किया है. कांग्रेस पीसीसी उपाध्यक्ष अर्चना शर्मा ने कहा कि बीजेपी के आरोपो में कोई दम नहीं है. सीएम गहलोत पूरे राज्य का दौरा कर रहे हैं. जहां तक वैभव के लोकसभा चुनाव लड़ने की बात है, तो उन्हें कांग्रेस आलाकमान ने चुनावी मैदान में उतारा है. वैसे, राजस्थान में दो दिग्गज नेताओं की कथित पुत्र मोह की सियासत की राजनीतिक गलियारों में जोरो पर है. आपको बता दें कि राज्य की सीएम गहलोत के बेटे वैभव गहलोत को जोधपुर से कांग्रेस ने चुनावी मैदान में उतारा है. 

गहलोत ने जोधपुर से की राजनीतिक जीवन की शुरुआत
आपको बता दें कि, जोधपुर से चुनाव लड़ रहे वैभव पूर्व में राजस्थान कांग्रेस के महासचिव भी रह चुके हैं. जोधपुर लोकसभा सीट सीएम गहलोत का गढ़ रहा है. उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत इसी सीट से की थी. गहलोत यहां से पांच बार सांसद बन चुके हैं. माना जाता है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत चाहते हैं वैभव गहलोत अपने दम पर चुनाव लड़े. 

 29 अप्रैल को जोधपुर में है मतदान
वैसे कांग्रेस के नेताओं का दावा है कि सीएम की ये मंशा है कि कहीं भी यह संदेश नहीं जाए कि मुख्यमंत्री का पुत्र चुनाव लड़ रहा है. इसी कारण है कि टिकट वितरण के बाद उन्होंने वैभव गहलोत को ट्रेन से जोधपुर भेजा और अकेले ही जनसंपर्क अभियान शुरू करने के निर्देश दिए. जोधपुर लोकसभा क्षेत्र में कुल 19.34 लाख मतदाता हैं और यहां राज्य के पहले चरण में 29 अप्रैल को मतदान होगा.