close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तेजस्वी के वोट नहीं देने पर बिहार में सियासत तेज, बीजेपी ने कहा- 'यह लोकतंत्र का अपमान'

महागठबंधन को इस पर जवाब देते नहीं बन रहा. बीजेपी ने तेजस्वी यादव के फैसले को लोकतंत्र का अपमान बता दिया है.

तेजस्वी के वोट नहीं देने पर बिहार में सियासत तेज, बीजेपी ने कहा- 'यह लोकतंत्र का अपमान'
बीजेपी ने तेजस्वी यादव के फैसले को लोकतंत्र का अपमान बताया है.

पटना: तेजस्वी यादव के वोट नहीं देने के मामले ने तूल पकड लिया है. रुलिंग पार्टी ने मुद्दे को हाथों हाथ उठा रखा है. वहीं, महागठबंधन को इस पर जवाब देते नहीं बन रहा. बीजेपी ने तेजस्वी यादव के फैसले को लोकतंत्र का अपमान बता दिया है. वहीं, कांग्रेस ने कहा है कि इतना बडा कांड नहीं हुआ है जिसको इतना तूल दिया जा सके. जबकि हकीकत ये है कि अगर तेजस्वी वोट देते तो इसका फायदा कांग्रेस के कैंडिडेट शत्रुघ्न सिन्हा को ही फायदा होता.

लोगों को वोट देने के लिए उत्साहित करते-करते बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने खुद ही वोट नहीं डाला. तेजस्वी के फैसले पर कई तरह के सियासी सवाल खडे होने लगे हैं. यहां तक कि रुलिंग पार्टी को तेजस्वी ने बैठे बिठाए एक मुद्दा भी दे दिया है. बीजेपी अध्यक्ष नित्यानंद राय ने तेजस्वी के फैसले पर सवाल खडे किये हैं. 

 

नित्यानंद राय ने कहा है कि संविधान बचाओ यात्रा करने वाले तेजस्वी ने लोकतंत्र का अपमान किया. संविधान क्या चीज है तेजस्वी को पता ही नहीं है. तेजस्वी तो तोते की तरह अपने गुरु शिवानन्द तिवारी के रटे रटाये बातों को ही दुहराते रहे हैं.

वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस ने तेजस्वी यादव का बचाव किया है. कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा है कि मेरी निजी राय है कि तेजस्वी को वोट देना चाहिए था. लेकिन किसी कारणवस तेजस्वी वोट नहीं दे पाए. कई बार ऐसे हालात हो जाते हैं जिसके कारण इंसान जरुरी काम भी नहीं कर पाता है. मामले पर इतना बडा कांड नहीं हुआ है जिसको लेकर इतना तूल दिया जा सके.

हालांकि मदन मोहन झा ने वोटिंग को लेकर तेजस्वी से बात करने की कोशिश जरुर की लेकिन तेजस्वी से बात नहीं हो सकी. तेजस्वी के वोट नहीं देने पर आरजेडी के पास भी कोई जवाब नहीं है. आरजेडी नेता शिवानन्द तिवारी ने कहा है कि तेजस्वी ने वोट क्यों नहीं डाला इसकी मुझे जानकारी नहीं है. कई बार खास वजहों से लोग वोट नहीं डाल पाते हैं. मेरी भी पत्नी ने वोट नहीं दिया है. इसका मतलब ये कतई नहीं है कि वो एनडीए को सपोर्ट कर रही हैं. तेजस्वी भी किसी कारण से वोट देने नहीं जा सके होंगे.