close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: प्रचंड मोदी लहर के बीच चुनाव हार सकते हैं ये कैबिनेट मंत्री

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha elections 2019) की मतगणना जारी है.  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वाराणसी लोकसभा सीट पर पिछली बार की अपेक्षा इस बार अधिक मतों के अंतर से जीत लगभग तय है. हालांकि मोदी कैबिनेट के दो मंत्री पीछे चल रहे हैं.

लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: प्रचंड मोदी लहर के बीच चुनाव हार सकते हैं ये कैबिनेट मंत्री
कैबिनेट मंत्री और गाजीपुर लोकसभा सीट से बीजेपी मनोज सिन्हा पीछे चल रहे हैं.

लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha elections 2019) की मतगणना जारी है. एक बार फिर से मोदी सरकार की वापसी हो रही है.प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की वाराणसी लोकसभा सीट पर पिछली बार की अपेक्षा इस बार अधिक मतों के अंतर से जीत लगभग तय है. वाराणसी सीट पर 25 वें राउंड की मतगणना के बाद मोदी अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा-बसपा-रालोद गठबंधन प्रत्याशी शालिनी यादव से चार लाख से अधिक मतों से बढ़त बनाए हुए हैं. आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्ष 2014 में हुए आम चुनाव में मोदी ने वाराणसी सीट पर तीन लाख 71 हजार 784 मतों से जीत हासिल की थी. मोदी इस दफा 25 वें राउंड तक चार लाख 20 हजार मतों की बढ़त बना चुके हैं. 

हालांकि उनकी कैबिनेट के मंत्री और गाजीपुर लोकसभा सीट से बीजेपी मनोज सिन्हा अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी अफजाल अंसारी से अब भी पीछे चल रहे हैं.गाजीपुर से बीजेपी उम्मीदवार और रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा गठबंधन उम्मीदवार अफजाल अंसारी से 66738 मतों से पीछे चल रहे हैं. प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के मुताबिक लखनऊ से केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी एवं गठबंधन प्रत्याशी पूनम सिन्हा से लगभग तीन लाख 10 हजार वोटों की बढ़त बनाए हुए हैं. अमेठी से मौजूदा सांसद कांग्रेस प्रत्याशी राहुल छठे दौर की मतगणना के बाद भाजपा की स्मृति ईरानी से तकरीबन 32 हजार मतों से पीछे हो गए हैं.

वहीं, शुरुआती रुझानों में पीछे चल रही सुलतानपुर से भाजपा उम्मीदवार एवं केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा—बसपा गठबंधन के प्रत्याशी चंद्रभद्र सिंह से करीब 16 हजार मतों से आगे चल रही हैं. रायबरेली से कांग्रेस प्रत्याशी सोनिया गांधी अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा प्रत्याशी दिनेश सिंह से करीब एक लाख 57 हजार मतों से आगे हैं. इसके अलावा पीलीभीत से भाजपा उम्मीदवार वरुण गांधी अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी से करीब दो लाख 39 हजार मतों से और इलाहाबाद से इसी पार्टी की प्रत्याशी रीता बहुगुणा जोशी भी करीब एक लाख 39 हजार मतों से बढ़त बनाये हुए हैं.

 

आजमगढ़ से पार्टी प्रत्याशी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, भाजपा के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी दिनेश लाल यादव निरहुआ से करीब एक लाख 45 हजार मतों से आगे चल रहे हैं. हालांकि अखिलेश की पत्नी कन्नौज से सपा उम्मीदवार डिम्पल यादव शुरुआती रुझानों में अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के सुब्रत पाठक से आगे चल रही थीं, मगर इस वक्त वह उनसे तकरीबन 24 हजार मतों से पिछड़ गयी हैं.

केन्द्रीय मंत्री अपना दल नेता अनुप्रिया पटेल मिर्जापुर में अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी गठबंधन के राम चरित्र निषाद पर दो लाख 14 हजार मतों की मजबूत बढ़त बना चुकी हैं. मुजफ्फरनगर से गठबंधन प्रत्याशी रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह भाजपा के संजीव बालियान से 21 हजार से ज्यादा मतों से पीछे चल रहे हैं. सिंह के बेटे जयंत चौधरी बागपत से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के सत्यपाल सिंह से 1633 मतों के मामूली अंतर से आगे चल रहे हैं. उन्नाव से वर्तमान भाजपा सांसद एवं प्रत्याशी साक्षी महाराज ने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा के अरुण शंकर शुक्ला पर चार लाख से ज्यादा मतों की बढ़त बना ली है.