अमेठी में पूर्व प्रधान की गोली मारकर हत्‍या, बीजेपी सांसद स्‍मृति ईरानी के थे करीबी

अज्ञात बदमाशों ने उनकी गोली मारकर हत्‍या कर दी. इसके बाद बदमाश फरार हो गए. घायल सुरेंद्र सिंह को लखनऊ के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी मौत हो गई.

अमेठी में पूर्व प्रधान की गोली मारकर हत्‍या, बीजेपी सांसद स्‍मृति ईरानी के थे करीबी
स्‍मृति ईरानी के करीबी पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्‍या. फाइल फोटो

नई दिल्‍ली : यूपी के अमेठी में शनिवार रात दुस्‍साहसिक वारदात को अंजाम दिया गया है. यहां के जामो पुलिस थानाक्षेत्र के अंतर्गत बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान की बदमाशों ने गोली मारकर हत्‍या कर दी. बताया जा रहा है कि सुरेंद्र सिंह घर के बाहर सो रहे थे तभी अज्ञात बदमाशों ने उनकी गोली मारकर हत्‍या कर दी गई. इसके बाद बदमाश फरार हो गए. घायल सुरेंद्र सिंह को लखनऊ के ट्रामा सेंटर इलाज के लिए ले जाया जा रहा था, रास्‍ते में ही उन्‍होंने दम तोड़ दिया. पुलिस मामले की जांच कर रही है. पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह अमेठी ने नवनिर्वाचित बीजेपी सांसद स्‍मृति ईरानी के करीबी थे.

 

अमेठी के पुलिस अधीक्षक के अनुसार सुरेंद्र सिंह को देर रात करीब 3 बजे गोली मारी गई है. मामले में कुछ संदिग्‍धों को हिरासत में लेकर पूछताछ हो रही है. जांच जारी है. उनके अनुसार पुरानी या राजनीतिक रंजिश के चलते सुरेंद्र की हत्‍या होने की आशंका है. 


अमेठी में सुरेंद्र सिंह के साथ कार्यक्रमों में भी देखी गई हैं स्‍मृति ईरानी. फाइल फोटो

दरअसल अमेठी जनपद के जामो थाना क्षेत्र के अंतर्गत बरौलिया गांव के पूर्व ग्राम प्रधान रहे सुरेंद्र सिंह की अज्ञात बदमाशों ने उनके ही घर के बाहर बरामदे में सो रहे पूर्व प्रधान को अज्ञात बदमाशों घुसकर गोली मार दी और फरार हो गए आनन-फानन में परिजन द्वारा सुरेंद्र सिंह को ट्रामा सेंटर लखनऊ ले जाया गया जहां पर उनकी मौत हो गई. जिससे पूरे इलाके में दहशत का माहौल है और उनके घर तथा गांव में कोहराम मचा हुआ है. मौके की नजाकत तथा संवेदनशीलता को देखते हुए गांव में पर्याप्त मात्रा में फोर्स तैनात कर दी गई है और पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत करते हुए बदमाशों की धरपकड़ जारी है और सुराग लगाने में जुटी हुई है.

वहीं पर सुरेंद्र सिंह के चचेरे भाई ने बताया कि हम लोग तो गांव में रहते थे. रात में मेरे लड़के के पास फोन गया कि प्रधान बाबू को किसी ने मार दी है. फिर हम लोग वहां से आए जब यहां आए तो दो चार लोग यहां मौके पर थे. एक ट्राली यहां पर बन रही थी और जब हम लोग आए तो उसके बाद इस चौराहे के लोग आए. हम लोग यहां पहुंचे तो यहां पर लोग इन को लेकर जा चुके थे फिर एक बोलेरो से पीछे पीछे कुछ लोग घर गए. गोली किसने मारी यह पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता लेकिन निश्चित रूप से यह चुनावी रंजिश के कारण गोली मारी गई है.

इस संबंध में जब पुलिस अधीक्षक अमेठी से बात की गई तो उन्होंने बताया देखिए इसमें ऐसा है कि यह अपने बरामदे में सोए हुए थे देर रात करीब 3 बजे के लगभग इनको किसी व्यक्ति द्वारा गोली मार दी गई. जिससे इनकी मृत्यु हो गई. इस संबंध में हम लोगों ने कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है और पूछताछ जारी है इसके अलावा जांच जारी है. घटना का हम सफल अनावरण करेंगे उनका शव लखनऊ में है शीघ्र पोस्टमार्टम हो जाए इसके लिए भी बात की गई है. शेष कार्यवाही की जा रही है शांति व्यवस्था बनी हुई है और लोगों से शांति व्यवस्था कायम करने की भी अपील कर रहे हैं.

उसके लिए हम पूरी व्यवस्था कर रहे हैं या कोई पुरानी रंजिश है क्योंकि यह पूर्व प्रधान भी रहे हुए हैं उस पर हम लोग काम कर रहे हैं. कुछ संदिग्धों के नाम मिले हैं जिसको हम लोगों ने हिरासत में लिया है इसमें चुनावी रंजिश ही हो सकती है इससे इनकार नहीं किया जा सकता है. प्रधान रहे हैं इसमें राजनीतिक रंजिश भी हो सकती है इन सभी बिंदुओं पर हम छानबीन कर रहे हैं.

लोकसभा चुनाव 2019 में उन्‍होंने स्‍मृति ईरानी के समर्थन में जोरशोर से प्रचार किया था. बीजेपी नेता स्‍मृति ईरानी ने लोकसभा चुनाव 2019 अमेठी में ऐतिहासिक जीत दर्ज करके वहां गांधी परिवार का किला ढहाया है. उन्‍होंने कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी को बड़े अंतर से चुनाव हराया है.