BJP का तंज, AAP की नहीं विकास में दिलचस्पी, वरना नहीं मांगती कांग्रेस का साथ

केंद्रीय मंत्री ने शिक्षा के क्षेत्र में अच्छे काम करने के आम सरकार के दावों को भी खारिज किया और कहा कि इसने सत्ता में आने के बाद से एक भी स्कूल नहीं खोला है. पुरी ने पीटीआई-भाषा के साथ साक्षात्कार में कहा कि वह दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की उपलब्धियां जानना चाहते हैं. 

BJP का तंज, AAP की नहीं विकास में दिलचस्पी, वरना नहीं मांगती कांग्रेस का साथ
पूरी ने आप सरकार के कई दावों को भी खारिज किया. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) ने अगर कर्मठता से काम किया होता तो उसे कांग्रेस के साथ गठबंधन करने की इतनी बेताबी नहीं होती. 

केंद्रीय मंत्री ने शिक्षा के क्षेत्र में अच्छे काम करने के आम सरकार के दावों को भी खारिज किया और कहा कि इसने सत्ता में आने के बाद से एक भी स्कूल नहीं खोला है. केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री पुरी ने पीटीआई-भाषा के साथ साक्षात्कार में कहा कि वह दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की उपलब्धियां जानना चाहते हैं. 

पूरी ने आप के उतावलेपन पर उठाया सवाल
पुरी ने कहा, “उनकी (आप) विकास में कोई दिलचस्पी नहीं है. उनका रवैया अलग है...अगर उन्होंने दिल्ली में मेहनत से काम किया होता तो वे कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के लिए इतने उतावले नहीं होते.” 

कांग्रेस की घोषणा के बाद आप नेता ने दिया था ये बयान
आप नेता गोपाल राय ने शुक्रवार को कहा था कि आप बीजेपी एवं कांग्रेस दोनों को हराने में सक्षम है और कांग्रेस के साथ गठबंधन तभी संभव है जब वह लोकसभा की 33 सीटें देने पर राजी हो जाएं.  कांग्रेस ने घोषणा की थी कि वह दिल्ली में लोकसभा चुनाव अकेले लड़ेगी लेकिन यह भी कहा था कि वह आप के साथ गठबंधन को तैयार है बशर्ते यह सिर्फ दिल्ली तक ही सीमित रहे.

केजरीवाल पर लगाएं विकास कार्य में बाधा डालने का आरोप
पुरी ने अपने मंत्रालय की तरफ से भेजे गए प्रस्तावों पर केजरीवाल द्वारा “बाधा” डाले जाने का भी आरोप लगाया फिर चाहे वह आरआरटीएस परियोजनाएं हों या मेट्रो फेज-4 हो.साथ ही उन्होंने आप सरकार पर दिल्ली की अनधिकृत कॉलोनियों के नियमन पर काम करने की मंशा नहीं होने का आरोप भी लगाया.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.