close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कर्नाटक: कुमारस्वामी बोले, 'खड़गे को बहुत पहले ही मुख्यमंत्री बना दिया जाना चाहिए था'

खड़गे की उपस्थिति में एक जनसभा में कुमारस्वामी का बयान ऐसे समय में आया है जब कांग्रेस के कुछ विधायक मांग कर रहे हैं कि सिद्धारमैया को फिर से मुख्यमंत्री बनाया जाए. 

कर्नाटक: कुमारस्वामी बोले, 'खड़गे को बहुत पहले ही मुख्यमंत्री बना दिया जाना चाहिए था'
कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी (फाइल फोटो साभार, @hdkumarswamy)

कलबुर्गी (कर्नाटक): कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने कहा है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम मल्लिकार्जुन खड़गे को बहुत पहले ही राज्य का शीर्ष पद दिया जाना चाहिए था और उनके साथ कथित तौर पर अन्याय हुआ है.

खड़गे की उपस्थिति में एक जनसभा में उनका बयान ऐसे समय में आया है जब कांग्रेस के कुछ विधायक मांग कर रहे हैं कि सिद्धारमैया को फिर से मुख्यमंत्री बनाया जाए. इस मांग से कांग्रेस और जेडीएस के बीच तीखा वाकयुद्ध चल रहा है. कुमारस्वामी राज्य में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार की अगुवाई कर रहे हैं.

'खड़गे ने जितना कुछ किया, उन्हें उसकी पहचान नहीं मिली'
कुमारस्वामी ने मंगलवार को चिंचोली में एक सभा में कहा, ‘मल्लिकार्जुन खड़गे को बहुत पहले ही मुख्यमंत्री बना दिया जाना चाहिए था.... मैं महसूस करता हूं कि उनके साथ अन्याय किया गया... मैं स्पष्ट तौर पर कहना चाहूंगा कि खड़गे ने जितना कुछ किया, उन्हें उसकी पहचान नहीं मिली.’

सिद्धारमैया ने उन्हें फिर से मुख्यमंत्री बनाने की पार्टी के अंदर उठ रही मांग को समर्थकों का ‘स्नेह’ बताया था और कहा था कि वह अगला विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने के अपने बयान पर अब भी कायम हैं. बता दें चिंचोली विधानसभा क्षेत्र में 19 मई को उपचुनाव है. कुमारस्वामी ने कहा कि उनकी सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी क्योंकि उन्हें खड़गे और सिद्धारमैया का समर्थन प्राप्त है.

कुमारस्वामी ने साधा पीएम पर निशाना
कुमारस्वामी की सरकार के टिके रहने के संबंध में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बी एस येद्दियुप्पा की टिप्पणी पर मुख्यमंत्री ने कहा,‘बीजेपी के नेतागण मेरी सरकार के गिरने के लिए एक के बाद एक समयसीमा तय कर रहे हैं. नवीनतम समयसीमा 23 मई तय की गई है. लेकिन कुछ नहीं होगा. वास्तव में 23 मई के बाद मेरी सरकार और मजबूत होगी क्योंकि उसे मल्लिकार्जुन खड़गे और सिद्धारमैया जैसे कांग्रेस नेताओं का समर्थन हासिल है.’