close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कैप्टन ने हार का ठीकरा सिद्धू पर फोड़ा, कहा-भारतीयों को पाकिस्तानी जनरल को गले लगाना बर्दाश्त नहीं

लोकसभा चुनाव 2019 के परिणों के हिसाब से पंजाब में कांग्रेस ने सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है, उसे 13 में से 9 सीटों पर जीत मिलती दिख रही है. दो सीटों पर बीजेपी और 2 पर अकाली दल के उम्मीदवार जीत हासिल कर रहे हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पंजाब में 13 में से 13 सीटें जीतने का दावा किया था.

कैप्टन ने हार का ठीकरा सिद्धू पर फोड़ा, कहा-भारतीयों को पाकिस्तानी जनरल को गले लगाना बर्दाश्त नहीं

नई दिल्ली/चंडीगढ़: लोकसभा चुनाव 2019 के चुनाव परिणामों ने बीजेपी को एक बार फिर से सत्ता की चाबी सौंपने की तैयारी कर दी है. अब आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. पंजाब में कांग्रेस ने सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है. 13 में से 9 सीटों पर कांग्रेस जीत की ओर बढ़ रही है. दो सीटों पर बीजेपी और 2 पर अकाली दल के उम्मीदवार जीत हासिल कर रहे हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पंजाब में 13 में से 13 सीटें जीतने का दावा किया था.

अब इस प्रदर्शन और पार्टी की हार पर उन्होंने कई कारण गिनाए हैं. कैप्टन ने मुख्य रूप से नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधा है. पंजाब की सियासत में कैप्टन और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच प्रतिद्वंद्विता का खबरें आती रही हैं. अब कैप्टन ने इस प्रदर्शन के लिए सिदधू पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है भारत में खासकर सर्विसमैन को यह बात बर्दाश्त नहीं है कि भारत का कोई व्यक्ति पाकिस्तानी सेना के जनरल को जाकर गले लगाए.

बता दें कि अपनी पाकिस्तान यात्रा के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तानी सेना के जनरल बाजवा को गले लगाया था. इसके बाद उनकी खूब आलोचना हुई थी. इसके बाद भी उनके रुख में कोई बदलाव नहीं आया था.

गुरदासपुर में लोकसभा सीट पर बीजेपी उम्मीदवार सनी देओल की जीत पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, यहां पर सुनील जाखड़ एक अच्छे उम्मीदवार थे. उन्होंने वहां पर बहुत सारा काम किया था. इस चुनाव में एक बात मुझे समझ में नहीं आ रही है कि लोग पता नहीं क्यों इतने सारे राजनीतिक अनुभव पर एक एक्टर को तरजीह दे रहे हैं.

इससे पहले भी कैप्टन और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच अनबन की खबरें आई थीं. नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी ने आरोप लगाया था कि कैप्टन के कारण ही उन्हें अमृतसर से टिकट नहीं मिला. क्योंकि वही नहीं चाहते थे. कैप्टन ये भी नहीं चाहते थे कि नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब में प्रचार करें.