close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चेवेल्ला लोकसभा सीट: अपने बागी उम्मीदवार के खिलाफ TRS ने दिया बिजनेसमैन को टिकट, रोचक है मुकाबला

चेवेल्ला लोकसभा सीट पर 11 अप्रैल को वोट पड़ चुके हैं और यहां 53.80 फीसदी मतदान रिकॉर्ड किया गया. अब 23 मई को आने वाले चुनावी परिणाम में इन उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा.

चेवेल्ला लोकसभा सीट: अपने बागी उम्मीदवार के खिलाफ TRS ने दिया बिजनेसमैन को टिकट, रोचक है मुकाबला
राहुल गांधी से हाथ मिलाते हुए कांग्रेस उम्मीदवार कोंडा विश्वेश्वर रेड्डी. (फाइल)

चेवेल्ला: तेलंगाना की चेवेल्ला लोकसभा सीट पर टीआरएस (TRS) ने एक बिजनेसमैन जी. रंजीत रेड्डी (Dr. G. Ranjith Reddy) पर दांव लगाया है. वह तेलंगाना पोल्ट्री ब्रीडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं. टीआरएस को उम्मीद है कि रेड्डी मौजूदा सांसद और कांग्रेस उम्मीदवार कोंडा विश्वेश्वर रेड्डी (Konda Vishweshwar Reddy) की जगह लेने में सक्षम होंगे, जो 2018 के विधानसभा चुनाव से ठीक एक महीने पहले टीआरएस छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गए थे. इस लोकसभा सीट पर 11 अप्रैल को वोट पड़ चुके हैं और यहां 53.80 फीसदी मतदान रिकॉर्ड किया गया. अब 23 मई को आने वाले चुनावी परिणाम में इन उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा.

तेलंगाना राज्य की सभी 17 सीटों पर पहले चरण यानी 11 अप्रैल को वोटिंग हो चुकी है. 10 मार्च को लोकसभा चुनावों की घोषणा के बाद 18 मार्च को यहां नोटिफिकेशन निकाला गया और 25 मार्च को नॉमिनेशन की अंतिम तारीख घोषित की गई. इसके बाद 26 मार्च को प्रत्याशियों के नामों पर अंतिम मुहर लगाई गई और 11 अप्रैल को वोटिंग हुई.

2014 के लोक सभा चुनावों में टीआरएस के कोंडा विश्वेश्वर रेड्डी 33.06 फीसदी यानी 4,35,077 वोट पाकर पहले स्थान पर थे. उन्होंने कांग्रेस के पी. कार्तिक रेड्डी को 73 हजार वोटों से हराया था. कांग्रेस उम्मीदवार को रेड्डी को 27.51 फीसदी यानी 3,62,054 वोट मिले थे. तीसरे नंबर पर रहे टीडीपी के टी. वीरेंदर गौड को  26.84 फीसदी वोट यानी 3,53,203 वोट मिले थे. दूसरे और तीसरे नंबर के बीच में 9 हजार से भी कम वोटों का अंतर रहा था. यह मुकाबला पूरी तरह त्रिकोणीय ही था.

चेवेल्ला संसदीय क्षेत्र में सात विधानसभा सीटें आती हैं. ये सीटें हैं- महेस्वरम, राजेंद्रनगर, सेरीलिंगमपल्ली, चेवेल्ला, पारगी, विकाराबाद, तन्दूर. यहां पर 2018 में हुए विधानसभा चुनावों में राजेंद्रनगर, सेरीलिंगमपल्ली, चेवेल्ला, पारगी और विकाराबाद में टीआरएस के विधायक हैं तो महेस्वरम और तन्दूर में कांग्रेस के विधायक हैं.

तेलंगाना भारत के आंध्रप्रदेश राज्य से अलग होकर भारत का 29वां राज्य बना था. राज्य में मुख्यमंत्री के. चन्द्रशेखर राव की अगुवाई में टीआरएस पार्टी की सरकार है. इस राज्य में 119 विधानसभा सीटें और 17 लोकसभा सीटें हैं. वहीं प्रदेश में कुल जिलों की संख्या 31 है.