अहमदाबाद पूर्व लोकसभा सीटः BJP लगा सकती है जीत की हैट्रिक, 2009 में हुआ था पहला चुनाव

अहदाबाद पूर्व लोकसभा सीट 2008 में स्तित्व में आई थी और 2009 में पहली बार लोकसभा चुनाव हुआ था.

अहमदाबाद पूर्व लोकसभा सीटः BJP लगा सकती है जीत की हैट्रिक, 2009 में हुआ था पहला चुनाव
अहमदाबाद पूर्व लोकसभा सीट से परेश रावल सांसद हैं. (फाइल फोटो)

अहमदाबादः गुजरात का सबसे बड़ा और आर्थिक तौर पर सक्षम शहर अहमदाबाद है. पहले यह गुजरात प्रदेश की राजधानी हुआ करता था. लेकिन 1960 में गांधीनगर को राजधानी स्थानांतरित कर दिया गया. माना जाता है कि अहमदाबाद का नाम अहमदाबाद का नाम सुल्तान अहमद शाह के नाम पर रखा गया है. इस शहर को भारत का मेनचेस्टर भी कहा जाता है.

अहमदाबाद लोकसभा क्षेत्र को दो भागों में बांट दिया गया है. साल 2008 के परिसीमन के बाद अहमदाबाद को दो लोकसभा सीट में बदल दिया गया. जिसमें एक अहमदाबाद पूर्व और दूसरा अहमदाबाद पश्चिम लोकसभा सीट के नाम से जाना जाता है.

अहमदाबाद लोकसभा सीट 2008 के परिसीमन के बाद स्तित्व में आई. इस सीट पर पहली बार साल 2009 में लोकसभा चुनाव हुआ था. अब तक दो बार लोकसभा चुनाव अहमदाबाद पूर्व सीट पर हो चुका है. जिसमें दोनों बार बीजेपी ने बाजी मारी है. 2009 में हरिन पाठक बीजेपी की टिकट से चुनाव लड़े थे. और बड़े अंतर से जीत हासिल की थी.

वहीं, 2014 के लोकसभा चुनाव में फिल्म अभिनेता परेश रावल बीजेपी के टिकट से चुनाव मैदान में उतरे थे. परेश रावल ने कांग्रेस उम्मीदवार हिम्मत सिंह पटेल को करीब 3 लाख से भी अधिक वोटों से हराया था. अब 2019 में बीजेपी के पास इस सीट पर हैट्रिक जीत दर्ज करने का मौका है.

हालांकि, अहमदाबाद पूर्व सीट से फिर से परेश रावल को टिकट मिलेगा या नहीं इस पर आशंका जताई जा रही है. ऐसा माना जा रहा है कि परेश रावल को राज्यसभा में जगह दिया जाएगा. उनके स्थान पर अमित शाह इस सीट से चुनाव लड़ सकते हैं. अभी वह राज्यसभा सांसद है. हालांकि उनके चुनाव पर भी संशय बना है क्योंकि अगर वह चुनाव लड़ेंगे तो पार्टी को चुनाव लड़ाने की जिम्मेदारी वह कैसे निभाएंगे.