बर्दवान-पूर्व लोकसभा सीट पर CPM, TMC और BJP में त्रिकोणीय मुकाबले के आसार

बर्धमान पूर्व लोकसभा सीट पर 2014 में हुए आम चुनाव में TMC के सुनील कुमार मंडल ने जीत हासिल की थी, उन्हें 5,74,660 वोट मिले थे, जबकि उनके प्रतिद्विंदी CPM के ईश्वर चंद्र दास दूसरे स्थान पर रहे थे.

बर्दवान-पूर्व लोकसभा सीट पर CPM, TMC और BJP में त्रिकोणीय मुकाबले के आसार
फाइल फोटो.

नई दिल्ली : बर्धमान पूर्व लोकसभा सीट पर 2014 में हुए आम चुनाव में TMC के सुनील कुमार मंडल ने जीत हासिल की थी, उन्हें 5,74,660 वोट मिले थे, जबकि उनके प्रतिद्विंदी CPM के ईश्वर चंद्र दास दूसरे स्थान पर रहे थे.

बर्धमान पूर्व एक ऐसी लोकसभा सीटों में शुमार है, जहां पर ज्यादा देर तक किसी भी पार्टी की सरकार नहीं चलती. माहौल और चुनावी मौसम के हिसाब से पार्टी खुद को ढाल लेती है. बर्धमान पूर्व पर दो बार कांग्रेस, और एक-एक बार AIFB मार्क्सिस्ट और जनता पार्टी ने जीत दर्ज़ की थी. हालांकि सीपीएम पार्टी की किस्मत कह लीजिए या फिर प्रत्य़ाशी के प्रति लगाव, 1980 से 2009 तक CPM के सुधीर रॉय और निखिलानंदा सार ने यहां से चुनावी जीत की हैट्रिक मारी. 2009 में यह सीट बर्धमान पूर्व नाम से जानी जाने लगी. 2014 में इस सीट से TMC के सुनील मंडल ने जीत हासिल की.

बर्धमान पूर्व संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत 7 विधानसभा सीटें आती हैं, जिनमें रैना, जमालपुर, कलना, मेमरी, पुरबास्थली दक्षिण, पुरबास्थली उत्तर और कटवा शामिल हैं. रैना, जमालपुर और कलना सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं.