close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तूतीकोरिन सीट : डीएमके ने कनिमोझी मैदान में, दिलचस्प होगा मुकाबला

समुद्री सीप और नमक बनाने के लिए पहचानी जाने वाली तूतीकोरिन लोकसभा सीट से फिलहाल अन्नाद्रमुक के जयसिंह त्यागराज नट्टरजी सांसद हैं. इस बार के लोकसभा चुनाव में तूतीकोरिन सीट से डीएमके ने कनिमोझी को प्रत्याशी बनाया है.

तूतीकोरिन सीट : डीएमके ने कनिमोझी मैदान में, दिलचस्प होगा मुकाबला

समुद्री सीप और नमक बनाने के लिए पहचानी जाने वाली तूतीकोरिन लोकसभा सीट से फिलहाल अन्नाद्रमुक के जयसिंह त्यागराज नट्टरजी सांसद हैं. इस बार के लोकसभा चुनाव में तूतीकोरिन सीट से डीएमके ने कनिमोझी को प्रत्याशी बनाया है. वहीं बीजेपी ने तमिलीसाई साउंडराजन पर दांव लगाया है. तूतीकोरिन सीट 2008 में अस्तित्व में आयी थी. 2009 में यहां पहली बार हुए इलेक्शन में डीएमके के एसआर जयादुराई ने जीत दर्ज की थी. इसके बाद 2014 के चुनाव में एआईएडीएमके के जयसिंह त्यागराज नट्टरजी के सिर जीत का सेहरा बंधा था.

इस लोस सीट के अंतर्गत छह विधानसभा सीटें
2014 के अनुसार इस लोकसभा सीट पर कुल 13,10,597 मतदाता हैं. इनमें से 6,51,366 पुरुष मतदाता और 6,59,231 महिला मतदाता हैं. तूतीकोरिन लोकसभा सीट के अंतर्गत छह विधानसभा आती हैं. इनमें तिरुचेंदुर, श्रीवायकुंतम, तुतीकोरिन, ओत्तापिदरम, कोविलपट्टी और विलातीकुलम विस सीट हैं. यहां पर अभी तक के चुनाव में एक बार डीएमके और दूसरी बार अन्नाद्रमुक के उम्मीदवार ने जीत हासिल की है. इस सीट पर इस बार होने वाला मुकाबला काफी दिलचस्प हो सकता है.

साल 2014 के चुनाव में एआईएडीएमके के जयसिंह त्यागराज नट्टरजी को 3,66,052 मत मिले थे. दूसरे नंबर पर डीएमके रही थी. तूतीकोरिन देश के सबसे पुराने इलाकों में से है. यहां पुराने समय में पाण्डया वंश का शासन था.