लोकसभा चुनाव 2019: शिवसेना का गढ़ है महाराष्‍ट्र की कल्‍याण सीट, एनसीपी से टक्‍कर

इस सीट पर पिछले दो चुनावों से शिवसेना का कब्‍जा रहा है. इस बार शिवसेना ने यहां से अपने मौजूदा सांसद श्रीकांत शिंदे को मैदान में उतारा है. वहीं एनसीपी ने यहां से बाबाजी पाटिल को टिकट दिया है.

लोकसभा चुनाव 2019: शिवसेना का गढ़ है महाराष्‍ट्र की कल्‍याण सीट, एनसीपी से टक्‍कर
शिवसेना और एनसीपी के बीच चुनावी जंग. फाइल फोटो

नई दिल्‍ली : लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha elections 2019) के चौथे चरण के चुनाव के तहत महाराष्‍ट्र की 17 सीटों पर 29 अप्रैल को मतदान होना है. शिवसेना का गढ़ कहलाने वाली महाराष्‍ट्र की कल्‍याण लोकसभा सीट पर भी चौथे चरण का मतदान होना है. इस सीट पर पिछले दो चुनावों से शिवसेना का कब्‍जा रहा है. इस बार शिवसेना ने यहां से अपने मौजूदा सांसद श्रीकांत शिंदे को मैदान में उतारा है. वहीं एनसीपी ने यहां से बाबाजी पाटिल को टिकट दिया है.

2008 में अस्तित्‍व में आई
महाराष्‍ट्र की कल्याण लोकसभा सीट 2008 में हुए परिसीमन के बाद अस्तित्‍व में आई. इस लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत 6 विधानसभा सीटें आती हैं. इनमें अंबरनाथ, उल्‍हासनगर, कल्‍याण ईस्‍ट, डोंबिवली, कल्‍याण रूरल, मुंब्रा-कल्‍वा आती हैं. इनमें से अंबरनाथ और कल्‍याण रूरल पर शिवसेना का कब्‍जा है. वहीं उल्‍हासनगर और मुंब्रा-कल्‍वा पर एनसीपी का कब्‍जा है. डोंबिवली सीट पर बीजेपी का कब्‍जा है. वहीं कल्‍याण ईस्‍ट सीट निर्दलीय प्रत्‍याशी गणपत कालू गायकवाड़ के पास है.

 

2009 में हुए पहले चुनाव
इस सीट पर पहली बार लोकसभा चुनाव 2009 में हुए. इन चुनाव में शिवसेना के उम्मीदवार आनंद परांजपे ने जीत दर्ज की. उन्हें 212,476 वोट मिले थे. एनसीपी के वसंत दावखारे को इन चुनाव में 188,267 वोट मिले थे. 2014 लोकसभा चुनाव में कल्याण सीट पर शिवसेना के उम्मीदवार को जीत मिली थी. शिवसेना से श्रीकांत शिंदे चुनाव जीते थे. उन्हें 440,892 वोट मिले. इन चुनाव में एनसीपी के उम्मीदवार आनंद परांजपे को 190,143 वोट मिले थे.