• 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    87कांग्रेस+

  • अन्य

    101अन्य

लोकसभा चुनाव 2019: ओडिशा के 12 से अधिक पोलिंग बूथों पर नहीं पड़ा 1 भी वोट

मलकानगिरी जिले के कुछ माओवाद प्रभावित इलाकों में शून्य प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया.

लोकसभा चुनाव 2019: ओडिशा के 12 से अधिक पोलिंग बूथों पर नहीं पड़ा 1 भी वोट
दिखा माओवाद का असर. फाइल फोटो

भुवनेश्वर : ओडिशा में गुरुवार को लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha elections 2019) के पहले चरण में मतदान हिंसामुक्त रहा, लेकिन मलकानगिरी जिले के कुछ माओवाद प्रभावित इलाकों में शून्य प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. इसके अलावा कुछ जगहों पर ग्रामीणों ने स्थानीय मांगों को लेकर चुनावों का बहिष्कार किया. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी है.

उन्होंने कहा कि मलकानगिरी जिले के चित्रकोंडा इलाके में लगभग एक दर्जन मतदान केन्द्रों पर "शून्य प्रतिशत मतदान" दर्ज किया गया. मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) सुरेंद्र कुमार ने कहा, "हां, हमें कुछ मुद्दों पर ग्रामीणों द्वारा चुनाव बहिष्कार की रिपोर्ट मिली हैं, जबकि मलकानगिरी जिले के कुछ नक्सल प्रभावित इलाकों में शून्य मतदान दर्ज किया गया." 

 

मलकानगिरी जिला प्रशासन के सूत्रों ने कहा कि चित्रकोंडा विधानसभा क्षेत्र में कई स्थानों पर लोग मतदान करने नहीं आए. 

बता दें कि लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिए गुरुवार को 20 राज्यों की 91 सीटों के लिए मतदान लगभग शांति पूर्ण रहा. शाम पांच बजे तक के आंकड़ों के अनुसार सबसे हुआकम बिहार में 50 प्रतिशत और पश्चिम बंगाल में 81 प्रतिशत मतदान. 

उप चुनाव आयुक्त उमेश सिंहा ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पहले चरण के चुनाव में मतदान का स्तर सामान्य रहा. सिंहा ने कहा कि अंतिम आंकड़े आने तक यह स्तर पिछले चुनाव की तुलना में लगभग बराबर ही होगा. उन्होंने कहा कि सभी 20 राज्यों की मतदान वाली सीटों पर सामान्य रूप से शांतिपूर्ण मतदान रहा. कुछ इलाकों में हिसा और बाधा पहुंचाने की शिकायतें जरूर मिली जिन्हें तत्काल दूर कर दिया गया. 

उन्होंने बताया कि पहले चरण में 91 सीटों पर कुल 1239 उम्मीदवार चुनाव मैदान में है. इनमें जिन राज्यों की सभी लोकसभा सीटों पर मतदान हुआ उनमें आंध्र प्रदेश की 25 सीटों पर शाम पांच बजे तक 66 प्रतिशत और तेलंगाना की 17 सीटों पर 60 प्रतिशत मतदान हुआ. जबकि संयुक्त आंध्र प्रदेश में 2014 के चुनाव में 76.64 प्रतिशत मतदान हुआ था.

इसके अलावा उत्तराखंड की पांच सीटों पर 57.85 प्रतिशत मतदान हुआ. राज्य में 2014 में 62.15 प्रतिशत मतदान हुआ था. अरुणाचल प्रदेश की दो सीटों पर 66 प्रतिशत मतदान रहा. राज्य में 2014 में मतदान का स्तर 80 प्रतिशत था. मेघालय की दो सीटों पर शाम छह बजे तक 67.1 प्रतिशत हुआ और पिछली बार 68 प्रतिशत मतदान हुआ था.