close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सैम पित्रोदा के बयान पर पंजाब में प्रियंका के रोड शो में लोगों ने किया प्रदर्शन

प्रियंका ने पंजाबी में भाषण देकर स्थानीय जनता से तार जोड़ने का प्रयास करते हुए कहा, ‘‘मैं यहां आकर खुश हूं. मेरे पति (रॉबर्ट वाड्रा) पंजाबी हैं. उन्होंने हमेशा मुस्कराते हुए हर चुनौती का सामना किया है.’’ 

सैम पित्रोदा के बयान पर पंजाब में प्रियंका के रोड शो में लोगों ने किया प्रदर्शन
न्होंने दावा किया कि पिछले पांच साल में 12,000 किसानों ने खुदकुशी कर ली, लेकिन मोदी किसानों की अनदेखी करते हैं.

बठिंडा: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) का सियासी रण अपने अंतिम दौर में है. राजनीतिक दलों के स्टार प्रचारक पूरा दम-खम लगाकर माहौल को अपने पक्ष में लाने का प्रयास कर रहे हैं. इन सबके बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मंगलवार को पंजाब पहुंचीं. इस दौरान पठानकोट में प्रियंका गांधी के रोड शो के दौरान उन्हें विरोध-प्रदर्शन का सामना करना पड़ा. दरअसल, हाल ही में कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा ने 1984 के सिख विरोधी दंगों को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया था. इसी के चलते प्रियंका गांधी को यहां प्रदर्शनकारियों ने काले झंडों के साथ सैम पित्रोदा और राजीव गांधी के बयानों के पोस्टर दिखाए. 

 

 

वहीं, प्रियंका गांधी ने बठिंडा में एक रैली में भाजपा के सहयोगी शिरोमणि अकाली दल को गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के लिए जिम्मेदार ठहराया. लोकसभा चुनाव के दौरान पंजाब में अपनी पहली रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका ने ‘बादलों’ वाली टिप्पणी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधा और कहा कि मोदी का सच अब ‘‘लोगों के रडार’’ पर है. अकाली दल के गढ़ माने जाने वाले बठिंडा की रैली में उन्होंने कहा, ‘‘अगर गुरु ग्रंथ साहिब को कुछ हो जाए तो पंजाब की आत्मा चली जाएगी. राजनीतिक फायदे और वोटों के लिए उनके (भाजपा के) सहयोगी ही गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी में शामिल थे.’’ 

बठिंडा से केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल का मुकाबला कांग्रेस के अमरिंदर सिंह राजा वारिंग से है. साल 2015 में सिखों के धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी के मामले को लेकर प्रियंका ने पंजाब की पिछली शिरोमणि अकाली दल-भाजपा सरकार पर हमला बोला और दावा किया कि यह ‘‘राजनीतिक लाभ’’ के लिए कराया गया था. पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी ने गुरू नानक के उपदेश ‘तेरा, तेरा’ और ‘सरबत दा भला : सबका भला :’ भी पढ़े. उन्होंने अकाली दल का नाम लिये बिना कहा, लेकिन भाजपा के सहयोगी केवल ‘मेरा, मेरा’ के लिए हैं.

प्रियंका ने पंजाबी में भाषण देकर स्थानीय जनता से तार जोड़ने का प्रयास करते हुए कहा, ‘‘मैं यहां आकर खुश हूं. मेरे पति (रॉबर्ट वाड्रा) पंजाबी हैं. उन्होंने हमेशा मुस्कराते हुए हर चुनौती का सामना किया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं पजाब की भूमि और पंजाब के लोगों को सलाम करती हूं. पंजाबी समुदाय हमेशा मजबूत दृढ़संकल्प के साथ चुनौतियों का सामना करता है और हमेशा खुश रहता है.’’ उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिर्फ प्रचार-दुष्प्रचार में लगे रहते हैं, बड़े-बड़े वादे करते हैं और दिखाते हैं कि पिछले 70 साल में कोई विकास ही नहीं हुआ.

प्रियंका ने कहा कि मोदी ने दो करोड़ नई नौकरियां देने का अपना वादा नहीं निभाया. उन्होंने दावा किया कि पिछले पांच साल में 12,000 किसानों ने खुदकुशी कर ली, लेकिन मोदी किसानों की अनदेखी करते हैं. कांग्रेस नेता ने कहा कि मौजूदा लोकसभा चुनाव ‘‘लोकतंत्र और देश बचाने’’ का चुनाव है. पंजाब की सभी 13 लोकसभा सीटों पर सातवें एवं आखिरी चरण में 19 मई को मतदान होना है.