कृषि-व्यापार के इर्द-गिर्द घूमती है कांथी लोकसभा सीट की राजनीति, हैट्रिक लगाएगी TMC!

धान, पान और काजू की खेती से लबरेज यहां समुद्री क्षेत्र भी आता है, इसलिए मत्स्य जीव भी भारी संख्या में यहां पाए जाते हैं और उनका व्यापार भी काफी बड़ा है. इतनी सारी खूबियां होने के कारण यहां पर चुनाव भी इसी के इर्द-गिर्द घूमती है. 

कृषि-व्यापार के इर्द-गिर्द घूमती है कांथी लोकसभा सीट की राजनीति, हैट्रिक लगाएगी TMC!
फाइल फोटो.

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर जिले के कांथी लोकसभा सीट राजनीति के लिहाज से काफी संवेदनशील मानी जाती है. इस के अस्तित्व में आने के बाद से ही यहां माकपा का कब्जा रहा है, लेकिन 2009 के चुनावों में तृणमूल कांग्रेस अपना वर्चस्व दिखाने में कामयाब रही और तब से सत्ता में कायम है. 

कुल 7,77,345 पुरुष और 7,13,064 महिला मतदाताओं वाला यह संसदीय क्षेत्र कृषि प्रधान है. धान, पान और काजू की खेती से लबरेज यहां समुद्री क्षेत्र भी आता है, इसलिए मत्स्य जीव भी भारी संख्या में यहां पाए जाते हैं और उनका व्यापार भी काफी बड़ा है. इतनी सारी खूबियां होने के कारण यहां पर चुनाव भी इसी के इर्द-गिर्द घूमती है. 

पिछले चुनावों के नतीजों पर नजर
सीट पर अभी मौजूदा सांसद- शिशिर कुमार अधिकारी, तृणमूल कांग्रेस
जीत का अंतर- 2,29,490 वोट
दूसरे स्थान पर- तापस सिन्हा, CPM
2014 में कुल मतदाता- 14,90,409
पुरुष वोटरों की संख्या- 7,77,345
महिला वोटरों की संख्या- 7,13,061