अपने ही मंत्री पर बरस पड़े मध्‍यप्रदेश के सीएम कमलनाथ, 'तुम ही बोल दो, मैं चला'

कमलनाथ डॉक्टर अंबेडकर के जन्म स्थल महू में श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे. इसी दौरान मीड‍िया से बातचीत करते हुए वह अपने मंत्री जीतू पटवारी पर झल्‍ला उठे.

अपने ही मंत्री पर बरस पड़े मध्‍यप्रदेश के सीएम कमलनाथ, 'तुम ही बोल दो, मैं चला'

भोपाल: मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ अपने ही मंत्री जीतू पटवारी पर झल्‍ला उठे. वाकया 14 अप्रैल 2019 को इंदौर के पास महू का है. कमलनाथ डॉक्टर अंबेडकर के जन्म स्थल महू में श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे.  श्रद्धांजलि हुई और कमलनाथ मीडिया से मुखातिब होने के लिए बढ़े. मीडिया कमलनाथ के संदेश का इंतजार कर रहा था, लेकिन उनकी ही सरकार में खेल एवं उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने ऐसा कुछ कह दिया कि झल्लाकर कमलनाथ को कहना पड़ा- 'तुम ही बोल दो मैं चला.'

दरअसल, मीडि‍या के कैमरामैन कमलनाथ का बयान लेना चाह रहे थे. इसी दौरान माइक आपस में टकराने लगे. तभी कमलनाथ के बिल्कुल बगल में खड़े जीतू पटवारी ने एक हाथ से सामने लगे माइक्स को दुरुस्त करने की कोशिश शुरू कर दी. लेकिन इसी दौरान भूल गए कि उनका हाथ मीडिया कर्मियों के कैमरे और कमलनाथ के बीच में आ गया है. कार्यक्रम को खत्म कर बयान देने की औपचारिकता पूरी करने के बाद कमलनाथ को अगले कार्यक्रम में जाने की जल्दी थी. कमलनाथ को यहां देरी होने लगी तो वे मंत्री जीतू पटवारी की हरकत पर झल्ला गए. मालवा में अपने ही इलाके में मुख्यमंत्री की इस झल्लाहट की वजह से मंत्री जीतू पटवारी भी असहज से हो गए.

अब इस वीडियो के वायरल होने के बाद जीतू पटवारी के विरोधी चटखारे ले रहे हैं. यह पहला मौका नहीं है जब मंत्री जीतू पटवारी की कोई हरकत मीडिया की सुर्खी बनी हो. इससे पहले पटवारी 'पार्टी गई तेल लेने' और आदिवासियों को शराब पीने की पैरवी करने वाले बयान देते हुए कैमरे में कैद हो चुके हैं. इस मामले पर कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा कहते हैं -भीड़ काफी थी, मंत्री जीतू पटवारी व्यवस्थाओं को संभालने की कोशिश कर रहे थे. इसमें कहां कुछ गलत हो रहा है.

बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल कहते हैं, कांग्रेस पार्टी से अनुशासन और सभ्यता की उम्मीद कैसे की जा सकती है? उनके नेता अक्सर कई मौकों पर असभ्य आचरण करते हुए दिखाई देते हैं. मुख्यमंत्री कमलनाथ के सामने जीतू पटवारी ने ऐसी ही एक असभ्यता का परिचय दिया है.