ममता बनर्जी बोलीं, 'देश के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं पीएम मोदी'

दक्षिण 24 परगना के बिडलापुर में ममता बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में हम सभी 42 सीट चाहते हैं जिससे कि तृणमूल कांग्रेस दिल्ली में सरकार के गठन में भूमिका निभा सके.

ममता बनर्जी बोलीं, 'देश के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं पीएम मोदी'
तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने कहा कि यदि आप ‘चौकीदार’ को प्रधानमंत्री के रूप में चुनते हो तो वह देश को नष्ट कर देंगे.

मटियाब्रिज: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के लिए ‘‘सबसे बड़ा’’ खतरा हैं. उन्होंने कहा कि वह यह सुनिश्चित करने में अपना जीवन लगा देंगी कि राज्य में कोई दंगा न हो. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा उनके भतीजे एवं डायमंड हार्बर लोकसभा सीट से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार अभिषेक बनर्जी को निशाना बना रही है और क्षेत्र में दंगा भड़काने सहित कुछ भी करने को तैयार है. बनर्जी ने मटियाब्रिज में अपने भतीजे के समर्थन में एक चुनावी रैली में कहा, ‘‘डायमंड हार्बर में दंगे की शुरुआत कराना पीएम मोदी का उद्देश्य है. वह अपने इस उद्देश्य के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं.’’ 

ममता बनर्जी ने कहा, ‘‘यदि पीएम नरेंद्र मोदी दोबारा सत्ता में आ गए तो देश कहां जाएगा. वह देश के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं. पश्चिम बंगाल एक ऐसा स्थान है जहां सभी धर्मों का सह-अस्तित्व है. मैं यह सुनिश्चित करने में अपना जीवन लगा दूंगी कि राज्य में कोई दंगा न हो.’’ बनर्जी ने कहा, ‘‘लोग मुझ पर मुसलमानों के तुष्टीकरण का आरोप लगाते हैं. तुष्टीकरण से आपका क्या मतलब है. मुस्लिम भी राज्य के लोग हैं. भाजपा किस तरह की घिनौनी राजनीति कर रही है.’’

 

 

दक्षिण 24 परगना के बिडलापुर में उन्होंने कहा कि देश को बचाने के लिए पीएम मोदी को सत्ता से ‘‘उखाड़ फेंका जाना’’ चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘पश्चिम बंगाल में हम सभी 42 सीट चाहते हैं जिससे कि तृणमूल कांग्रेस दिल्ली में सरकार के गठन में भूमिका निभा सके.’’ नामखाना में एक अन्य रैली में उन्होंने लोगों से कहा कि वे मोदी को एक भी वोट नहीं दें, नहीं तो वह देश को नष्ट कर देंगे. उन्होंने दावा किया कि मोदी ने पांच साल में देश के लिए कुछ नहीं किया है.

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने कहा, ‘‘यदि आप ‘चौकीदार’ को प्रधानमंत्री के रूप में चुनते हो तो वह देश को नष्ट कर देंगे. मतदाता भाजपा को एक भी वोट नहीं देकर उन्हें अपदस्थ कर सकते हैं.’’