जोधपुर में पाक हिन्दुओं का वोट बैंक है अहम, सियासी पार्टियों की टिकी है नजर

 पाकिस्तान से आकर राजस्थान के जोधपुर में बसे हिन्दू परिवार एक अहम वोट बैंक बन गए हैं.

जोधपुर में पाक हिन्दुओं का वोट बैंक है अहम, सियासी पार्टियों की टिकी है नजर
जोधपुर में पाक हिंदूओं का वोट काफी अहम है. (प्रतीकात्मक फोटो)

जोधपुरः पाकिस्तान से आकर राजस्थान के जोधपुर में बसे हिन्दू परिवार कुछ वक्त पहले तक राजनीति को प्रभावित करने की हैसियत नहीं रखते थे, लेकिन समय गुजरने के साथ इनकी संख्या में इजाफा हुआ है और यह एक अहम वोट बैंक बन गए हैं. सियासी पार्टियां अपने घोषणा पत्रों में उनकी पानी और बिजली जैसी बुनियादी जरूरतों को पूरा करने का वादा कर रही हैं.

पाकिस्तानी हिन्दुओं के लिए चैरिटी का काम करने वाले हिन्दू सिंह सोडा ने बताया कि जोधपुर में समुदाय के करीब 20,000 सदस्य वोट देने के पात्र हैं. 

सोडा ने बताया कि बाड़मेर, जैसलमेर और बीकानेर जैसे अन्य जिलों में करीब पांच लाख पाकिस्तानी हिन्दू हैं. इनमें से दो लाख को भारतीय नागरिकता दे दी गई है.

उन्होंने बताया कि ये लोग सात साल भारत में रहने के बाद भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन कर सकते हैं और तब तक वे लंबी अवधि के वीजा पर यहां रहते हैं. सोडा ने कहा कि भारत की नागरिकता मिलने के बाद, ये लोग वोट डाल पाएंगे और सरकार की योजनाओं का लाभ ले पाएंगे.

उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में समुदाय की ताकत को स्वीकार करते हुए पानी, बिजली और अन्य चीजों का वादा किया है.

सोडा ने कहा, 'पाकिस्तानी हिन्दू मतदाताओं की अच्छी संख्या देखकर कांग्रेस ने पहली बार अपने घोषणापत्र में शरणार्थी पाकिस्तानी हिन्दुओं को बिजली, शिक्षा और रोजगार मुहैया कराने का वादा किया है.'

पाकिस्तान से भागकर आए 22 साल के जगदीश ठाकुर ने बताया कि वह जोधपुर से 14 किलोमीटर दूर मागरा पूंजला में 850 अन्य पाकिस्तानी हिन्दुओं के साथ अस्थायी शिविरों में रहता है, जहां बिजली की व्यवस्था नहीं है और सूरज डूबते ही ये शिविर अंधेरे में डूब जाते हैं.

उन्होंने बताया कि सांप और बिच्छू के काटने के मामले शिविरों में आम हैं. एक अन्य हिन्दू शरणार्थी ने कहा कि भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में समुदाय के लिए कोई वादा नहीं किया है.

उन्होंने कहा, 'वे (भाजपा) पाकिस्तानी हिन्दू विस्थापितों को अपना वोट बैंक है क्योंकि पार्टी की हिन्दू विचारधारा है, लेकिन पाकिस्तानी हिन्दुओं को हल्के में नहीं लिया जा सकता है.' 

जोधपुर में 29 अप्रैल को चुनाव होना है. यहां से कांग्रेस के उम्मीदवार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत मैदान में हैं जबकि भाजपा ने मौजूदा सांसद और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को टिकट दिया है.