close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रियंका ने कार्यकर्ताओं से कहा, एक्जिट पोल पर ध्यान ना दें, मतगणना केंद्रों पर डटे रहें

सभी प्रमुख चैनलों की ओर से प्रसारित एक्जिट पोल में बीजेपी नीत एनडीए को बहुमत मिलने का अनुमान लगाए जाने की पृष्ठभूमि में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोमवार को पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे अफवाहों एवं एक्जिट पोल पर ध्यान ना दें, और स्ट्रांग रूम तथा मतगणना केंद्रों पर डंटे रहें.

प्रियंका ने कार्यकर्ताओं से कहा, एक्जिट पोल पर ध्यान ना दें, मतगणना केंद्रों पर डटे रहें
प्रियंका ने कार्यकर्ताओं को जारी किया ऑडियो संदेश...

नई दिल्ली: सभी प्रमुख चैनलों की ओर से प्रसारित एग्जिट पोल में बीजेपी नीत एनडीए को बहुमत मिलने का अनुमान लगाए जाने की पृष्ठभूमि में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोमवार को पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे अफवाहों एवं एग्जिट पोल पर ध्यान ना दें, और स्ट्रांग रूम तथा मतगणना केंद्रों पर डंटे रहें.

कार्यकर्ताओं को जारी ऑडियो संदेश में प्रियंका ने कहा, 'आपलोग, अफ़वाहों और एग्जिट पोल से हिम्मत मत हारिये. यह अफवाहें आपका हौसला तोड़ने के लिये फैलाई जा रही है. इस बीच आपकी सावधानी और भी महत्वपूर्ण बन जाती है. स्ट्रांग रूम और मतगणना केंद्रों पर डटे रहिए और चौकन्ने रहिए.' उन्होंने कहा, 'हमें पूरी उम्मीद है कि हमारी और आपकी मेहनत का फल मिलेगा.' गौरतलब है कि 19 मई को आए तकरीबन सभी प्रमुख एग्जिट पोल में एनडीए को बहुमत मिलने का अनुमान लगाया गया है.

एग्जिट पोल से बीजेपी खुश, विपक्ष निराश
एग्जिट पोल सामने आने के बाद से राष्ट्रीय राजधानी और देश के अन्य हिस्सों में विभिन्न राजनीतिक दलों के कार्यालयों में लोगों की मनोदशा प्रभावित हुई है. बीजेपी जहां इससे अत्यंत प्रसन्न है, वहीं कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टियों में उत्साह कम नजर आ रहा है. हालांकि आम रुख चुनाव परिणामों तक इंतजार करने का है. तीन एग्जिट पोल में भाजपा नीत राजग को 300 से ज्यादा सीट मिलने का अनुमान जताया गया है, वहीं दो अन्य ने सत्तारूढ़ गठबंधन को बहुमत नहीं मिलने का अंदाज लगाया है.

कांग्रेस मुख्यलाय में सोमवार सुबह सामान्य हलचल गायब थी जिसके बारे में पार्टी कार्यकर्ताओं ने कहा कि एग्जिट पोल द्वारा “झूठा माहौल” बनाने की वजह से ऐसा है. पार्टी के अन्य सहयोगियों ने भी उनकी बात से सहमति जताई कि दोनों पार्टियों के बीच कड़ा मुकाबला होगा और कांग्रेस का प्रदर्शन 2014 के प्रदर्शन से बेहतर होगा जब पार्टी ने महज 44 सीट जीती थीं.

 

सीपीआई के राष्ट्रीय सचिव डी राजा ने इस बात को स्वीकारा कि इतने साल में यह वाम दलों का सबसे निराशाजनक प्रदर्शन होगा. उन्होंने कहा, "हम क्या भूमिका निभाएंगे, इसका फैसला 23 मई के बाद होगा." लखनऊ में भाजपा मुख्यालय में एग्जिट पोल और उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन की किस्मत पर चाय पर चर्चा जोरों पर थी.
 
मायावती से मिले अखिलेश यादव
अखिलेश यादव बसपा सुप्रीमो मायावती के घर भी पहुंचे और दोनों के बीच करीब एक घंटे तक बंद दरवाजे के पीछे बातचीत चली. तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के खेमे में भी माहौल सुस्त था. मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की अगुवाई वाली टीआरएस के एक वरिष्ठ नेता ने पीटीआई से कहा, "हमारा पूर्वानुमान था कि न तो एनडीए को और न ही यूपीए को अपने दम पर बहुमत मिलेगा. एग्जिट पोल के नतीजों की मानें तो हम गलत साबित होने जा रहे हैं."