लोकसभा चुनाव 2019: काशी के बाद आज अयोध्या में प्रियंका, निकालेंगी राहुल संदेश यात्रा

कुमारगंज से हनुमानगढ़ी के बीच प्रियंका गांधी 9 जगहों पर लोगों से बातचीत करेंगी. इसके साथ ही वह तीन नुक्कड़ सभाएं भी करेंगी. 

 लोकसभा चुनाव 2019: काशी के बाद आज अयोध्या में प्रियंका, निकालेंगी राहुल संदेश यात्रा
रायबरेली से सड़क मार्ग से वह अयोध्या पहुंचेंगी.

नई दिल्ली: शिव की नगरी काशी के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भगवान राम के शहर अयोध्या में आज पहुंच रहीं हैं. जहां, वह कांग्रेस प्रत्याशी डॉ निर्मल खत्री के लिए रोड शो करेंगी. जानकारी के मुताबिक, सुबह 10:45 बजे अमेठी में जगदीशपुर स्थित चौधीपुर से हलियापुर तक कांग्रेसी प्रियंका गांधी का भव्य स्वागत करेंगे, यहां से राहुल संदेश यात्रा निकाली जाएगी. कुमारगंज से हनुमानगढ़ी के बीच प्रियंका गांधी 9 जगहों पर लोगों से बातचीत करेंगी. इसके साथ ही वह तीन नुक्कड़ सभाएं भी करेंगी. 

ये है मिनट टू मिनट कार्यक्रम
- सुबह 10:45 पर अमेठी में जगदीशपुर स्थित चौधीपुर से हलियापुर तक कांग्रेसी करेंगे प्रियंका गांधी का भव्य स्वागत
- यहां से निकाली जाएगी राहुल संदेश यात्रा
- सुबह 11:15 पर पहुंचेंगी सिधौना सिधौना में करेंगी नुक्कड़ सभा 
- सुबह 11:45 पर पहुंचेंगी अटका हरदोईया
- दोपहर 12:45 पर पहुंचेंगी आदिलपुर जहां नुक्कड़ सभा करेंगी
- दोपहर 1:30 पर पहुंचेंगी नववा कुआं होगी, जहां नुक्कड़ सभा करेंगी 
- दोपहर 2 बजे पहुंचेंगी मऊ शिवाला के सनबीम स्कूल बच्चों से संवाद करेंगी  
- दोपहर 2.40 बजे नवीन मंडी चौराहा पर आमजनों से मुलाकात करेंगी 
- दोपहर 3:30 शहर की रीडगंज चौराहे पहुंचेंगी, जहां किन्नर गुलशन बिंदु स्वागत करेंगी 
- शाम 4:30 पर हनुमानगढ़ी पहुंचेंगी और दर्शन करेंगी  
- हनुमानगढ़ी के दर्शन पूजन के बाद लखनऊ एयरपोर्ट के लिए होंगी रवाना

आपको बता दें कि गुरुवार को प्रियंका अपने भाई राहुल गांधी के संसदीय सीट अमेठी और शुक्रवार को वह अपनी मां सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में थीं. अब वह सड़क मार्ग से सुल्तानपुर होते हुए अयोध्या पहुंचेंगी. रास्ते में वह स्थानीय निवासियों से मिलेंगी और विभिन्न मुद्दों पर बात करेंगी. 

 

लखनऊ से बाराबंकी और उसके बाद अयोध्या, सुल्तानपुर और अमेठी ऐसे क्षेत्र हैं जो पार्टी के 'मिशन 30' की रणनीति के तहत आते हैं. ऐसे में प्रियंका गांधी का अयोध्या दौरा और भी अहम हो जाता है. आपको बता दें कि प्रियंका से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी विवादित ढांचा विध्वंस के 26 साल बाद सितंबर 2016 में अपनी अयोध्या यात्रा के दौरान पहली बार हनुमानगढ़ी में दर्शन के लिए पहुंचे थे, जहां उन्होंने संतों का आशीर्वाद भी हासिल किया था.