विदेश से लौटने के बाद प्रियंका ने राहुल गांधी से की मुलाकात, 11 फरवरी को लखनऊ में करेंगी रोड शो

विदेश से भारत लौटने के बाद प्रियंका गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ एक बैठक की. इस बैठक में पश्चिमी यूपी के महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद रहे. 

विदेश से लौटने के बाद प्रियंका ने राहुल गांधी से की मुलाकात, 11 फरवरी को लखनऊ में करेंगी रोड शो
दिल्ली के 24 अकबर रोड में मौजूद कांग्रेस दफ्तर में प्रियंका को उनका कमरा दे दिया गया है.
Play

नई दिल्ली/लखनऊ (रवि त्रिपाठी): कांग्रेस की नवनियुक्त महासचिव प्रियंका गांधी लोकसभा चुनाव 2019 में अपनी राजनैतिक पारी की शुरूआत करने जा रही है. जानकारी के मुताबिक, प्रियंका गांधी 11 फरवरी को लखनऊ में बड़ा रोड शो करेंगी. यूपी कांग्रेस ने प्रियंका के कार्यक्रम को अंतिम रूप दे दिया है. विदेश से भारत लौटने के बाद प्रियंका गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ एक बैठक की. इस बैठक में पश्चिमी यूपी के महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद रहे. सूत्रों को मुताबिक, इस बैठक में पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए चुनावी रणनीति पर चर्चा हुई. 

मंगलवार (05 फरवरी) को यूपी कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को उनका नया ऑफिस मिल गया है. दिल्ली के 24 अकबर रोड में मौजूद कांग्रेस दफ्तर में प्रियंका को उनका कमरा दे दिया गया है, जहां उनकी नेम प्लेट भी लग गई है. खास बात ये है कि प्रियंका गांधी के इस कमरे से ही राहुल गांधी के पॉलिटिकल करियर की शुरुआत हुई थी. ये कमरा कभी राहुल गांधी का हुआ करता था. प्रियंका गांधी का ये कमरा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बिलकुल बगल में है. 

 

वहीं, यूपी कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के भारत लौटते ही कांग्रेस पार्टी के मुख्यालय के बाहर पोस्टर लगाए गए हैं, जिसमें प्रियंका गांधी, राहुल गांधी के साथ रॉबर्ट वाड्रा नजर आ रहे हैं. इस पोस्टर में ऊपर  लिखा है, कट्टर जोश नहीं युवा जोश. इसके साथ ही पोस्टर में लिखा है, 'जन-जन की यही पुकार, राहुल जी, प्रियंका जी अबकी बार'.

कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि आगामी लोकसभा चुनावों की रणनीति तैयार करने के लिए गुरूवार (07 फरवरी) शाम दिल्ली में होने जा रही पार्टी महासचिवों एवं विभिन्न राज्यों के प्रभारियों की बैठक में प्रियंका भी शामिल होंगी. राहुल ने शनिवार को दिल्ली में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों एवं कांग्रेस विधायक दल के नेताओं की भी बैठक बुलाई है ताकि आम चुनावों की तैयारियों की समीक्षा की जा सके. समझा जाता है कि प्रियंका ने कांग्रेस के अन्य नेताओं से भी मिलकर पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए चुनावी रणनीति पर चर्चा की.