RJD में अनदेखी पर तेजप्रताप ने कहा- 'नादान हैं वो लोग जो मुझे नादान समझते हैं'
trendingNow1510482

RJD में अनदेखी पर तेजप्रताप ने कहा- 'नादान हैं वो लोग जो मुझे नादान समझते हैं'

तेजप्रताप यादव ने शायराने अंदाज में आरजेडी के नेताओं पर नाराजगी जाहिर की है.

तेजप्रताप यादव ने पार्टी के नेताओं पर आरोप लगाया है. (फाइल फोटो)

पटनाः आरजेडी नेता और लालू यादव के बेटे तेजप्रताप यादव ने बड़ा धमाका किया है. उन्होंने फिर से आरजेडी के बड़े नेताओं पर उनकी बातों को अनदेखी करने का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि लालू यादव के नहीं होने से वह सभी मनमाने ढंग से काम कर रहे हैं. वहीं, उन्होंने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए छात्र आरजेडी के संरक्षक पद से इस्तीफा दे दिया. और कहा, 'नादान हैं वो लोग जो मुझे नादान समझते हैं'

तेजप्रताप यादव ने ट्विट कर कहा है कि वह छात्र राष्ट्रीय जनता दल के संरक्षक के पद से मैं इस्तीफा दे रहा हूं. वहीं, उन्होंने उनकी बातों को अनदेखी करने के लिए आरजेडी के बड़े नेताओं को कहा है कि 'नादान हैं वो लोग जो मुझे नादान समझते हैं, कौन कितना पानी में है सबकी है खबर मुझे.'

fallback

तेजप्रताप यादव ने एक बार फिर पार्टी के नेताओं को चेतावनी दे दी है. उनका कहना साफ है कि उन्हें नादान समझने की भूल नहीं करें. उन्हें सभी पता है कि पार्टी के अंदर क्या हो रहा है और कौन कितने पानी में हैं.

दरअसल, तेजप्रताप यादव शिवहर और जहानाबाद से उनके पसंद का कैंडिडेट उतारने की मांग की है. शिवहर से अंगेश सिंह को और जहानाबाद से चंद्रप्रकाश का नाम आगे बढ़ाया है. इसे लेकर उन्होंने भरोसा जताया था कि उनकी बात तेजस्वी यादव और पार्टी फोरम सुनेंगे. लेकिन उनकी बातों को अनदेखी की गई.

तेजप्रताप यादव ने पार्टी के उन नेताओं पर आरोप लगाया है जो उम्मीदवारों का चयन करने का काम कर रहे हैं. उन्होंने शिवानंद तिवारी, रामचंद्र पूर्वे समेत अपने भाई तेजस्वी यादव को लेकर कहा है कि उम्मीदवार के चयन में वह सही से काम नहीं कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि लालू यादव जेल में हैं इसलिए उनके अनुसार काम नहीं किया जा रहा है.

तेजप्रताप ने कहा कि जिन दो लोगों का नाम हमने दिया वह जनता की मांग के अनुसार था. वह लगातार जनता से मिल रहे हैं और पढ़े लिखे छात्र और शिक्षक उम्मीदवार की प्रशंसा कर रहे हैं. लेकिन आरजेडी के अंदर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि लालू यादव अभी जेल में है और वह नेताओं के खेल को नहीं देख रहे हैं. जबकि उम्मीदवार के लिए उनकी लालू यादव से भी बात हुई थी.

Trending news