बिहार: महागठबंधन में 'फूट', VIP के प्रत्याशी के सामने कांग्रेस नेता शकील अहमद ने ठोकी ताल

 महागठबंधन ने वीआईपी पार्टी के बद्री कुमार पूर्वे को उम्मीदवार बनाया तो वहीं अब कांग्रेस भी मधुबनी से ताल ठोकने जा रही है. 

बिहार: महागठबंधन में 'फूट', VIP के प्रत्याशी के सामने कांग्रेस नेता शकील अहमद ने ठोकी ताल
मधुबनी में महागठबंधन के दो प्रत्याशी चुनावी मैदान में होंगे. (फाइल फोटो)

मधुबनी: बिहार के मधुबनी लोकसभा चुनाव के लिए आज से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गई है. महागठबंधन ने वीआईपी पार्टी के बद्री कुमार पूर्वे को उम्मीदवार बनाया तो वहीं अब कांग्रेस भी मधुबनी से ताल ठोकने जा रही है. 

क्या निर्दलीय लड़ेंगे चुनाव!
कांग्रेसी नेताओं की मानें तो बड़े दलों ने जिले के बाहर के लोगों को प्रत्याशी बनाया है जिससे विकास कार्य ठप हो जाएगा. इसलिए कांग्रेस भी मधुबनी से डॉ.शकील अहमद को उम्मीदवार बनाएगी. हालांकि कहा ये भी जा रहा है कि शकील अहमद यहां से निर्दलीय चुनाव लड़ सकते हैं. 

कटवाया एनआर
पार्टी के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने पर्चा कटाया. शकील अहमद ने अपने नाम का एनआर कटवा लिया है. आपको बता दें कि नॉमिनेशन के पहले प्रत्याशी को एनआर कटवाना पड़ता है.

16 अप्रैल को नामांकन
अब शकील अहमद 16 अप्रैल को मधुबनी से नामांकन कर सकते हैं. कार्यकर्ताओं का मानना है कि शकील अहमद यहां महागठबंधन से 'फ्रेंडली चुनाव' लड़ेंगे. 

हो सकता है नुकसान
आगे देखने वाली बात होगी कि महागठबंधन की बाकी पार्टियां इसपर क्या प्रतिक्रिया देती है लेकिन इतना साफ है मधुबनी में महागठबंधन के दो प्रत्याशी चुनावी मैदान में होंगे जिससे गठबंधन को नुकसान भी हो सकता है. 

होगी कांटे की टक्कर
आपको बता दें कि एनडीए की ओर से यह सीट बीजेपी के खाते में गई है और पार्टी ने यहां से हुकुमदेव नारायण के बेटे अशोक यादावत को टिकट दिया है. कहना गलत नहीं होगा कि मधुबनी का मुकाबला काफी दिलचस्प होता जा रहा है.