close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: चुनावी रैली में कांग्रेस नेता और एक्‍ट्रेस से छेड़छाड़, कार्यकर्ता को जड़े ताबड़तोड़ थप्‍पड़

लोकसभा चुनाव 2019 के प्रचार के दौरान बेंगलोर सेंट्रल सीट पर रोड शो के दौरान खुशबू सुंदर पहुंची थीं. उसी समय उनके साथ छेड़खानी की घटना हुई. उसके बाद खुशबू ने उनमें से एक कार्यकर्ता पर ताबड़तोड़ थप्‍पड़ बरसा दिए.  

VIDEO: चुनावी रैली में कांग्रेस नेता और एक्‍ट्रेस से छेड़छाड़, कार्यकर्ता को जड़े ताबड़तोड़ थप्‍पड़
खुशबू कांग्रेस के प्रचार के लिए बेंगलोर सेंट्रल पहुंची थीं.

बेंगलुरु: लोकसभा चुनाव 2019 (LoK Sabha elections 2019) के पहले चरण का चुनाव हो चुका है. दूसरे चरण का चुनाव 18 अप्रैल को होगा. इस चरण में कर्नाटक की 14 सीटों पर चुनाव होगा. इसी कारण कर्नाटक में चुनाव प्रचार चरम पर है. यहां पर बीजेपी का मुकाबला कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन से है. गुरुवार को एक चुनावी रोड शो के दौरान कांग्रेस नेता और एक्‍ट्रेस खुशबू सुंदर के साथ छेड़खानी हुई. रोड शो के दौरान खुशबू सुंदर जब चल रही थीं, उस समय उनके साथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ चल रही थी. इसी दौरान उनके साथ ये छेड़खानी की घटना हुई. उसके बाद खुशबू ने उनमें से एक कार्यकर्ता पर ताबड़तोड़ थप्‍पड़ बरसा दिए.

हालांकि ये साफ नहीं हो सका कि जिस शख्‍स को खुशबू ने पीटा उसी ने छेड़छाड़ की. इसके बाद उस शख्‍स को पुलिस अपने साथ लेकर चली गई. खुशबू के साथ ये घटना तब हुई जब वह बेंगलुरु सेंट्रल के उम्‍मीदवार के लिए प्रचार कर रही थीं.

इस सीट पर बीजेपी ने पीसी मोहन को अपना उम्‍मीदवार बनाया है. उनका मुकाबला कांग्रेस के रिजवान अरशद से है. इसी सीट से अभिनेता प्रकाश राज निर्दलीय उम्‍मीदवार के रूप में मैदान में हैं. बड़ी बात ये है कि पीसी मोहन 2009 और 2014 में जीत हासिल कर चुके हैं. इस बार उनके लिए लड़ाई कड़ी है, क्‍योंकि उनके सामने कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन है.

कर्नाटक में 28 सीटों के लिए दूसरे और तीसरे चरण में वोट डाले जाएंगे. दूसरे चरण में 14 सीटों पर 18 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. जबकि बाकी की सीटों पर तीसरे चरण में 23 अप्रैल को वोटिंग होगी. बेंगलुरु सेंट्रल में 18 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. परिणाम 23 मई को आएगा. 

पिछले चुनाव में पीसी मोहन ने 1.37 लाख वोटों से जीत हासिल की थी. तब भी उनके सामने रिजवान अरशद ही थे. वह दूसरे नंबर पर रहे थे. बीजेपी को 55.63 वोट मिले थे.