close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: जब वोट के लिए गंदा पानी पी गए बीजेपी नेता, देखें फिर क्या हुआ

लोकसभा चुनाव 2019 के रण में वोटरों को लुभाने के लिए नेताओं को क्या क्या नहीं करना पड़ता है. नेताजी पांच साल भले ही वोटरों से ना मिलें लेकिन चुनाव आते ही पद यात्रा से लेकर घर घर संपर्क अभियान चलाया जाता है. रैली, रोड शो और तमाम तरह की कवायद की जाती है. लेकिन उत्तर मुंबई से बीजेपी उम्मीदवार गोपाल शेट्टी ने हद ही कर दी. 

VIDEO: जब वोट के लिए गंदा पानी पी गए बीजेपी नेता, देखें फिर क्या हुआ
गंदा पानी पीने के बाद बीजेपी उम्मीदवार गोपाल शेट्टी ने अपने विरोधी और कांग्रेस की उम्मीदवार उर्मिला मातोंडकर पर निशाना साधा.

मुंबई: लोकसभा चुनाव 2019 के रण में वोटरों को लुभाने के लिए नेताओं को क्या क्या नहीं करना पड़ता है. नेताजी पांच साल भले ही वोटरों से ना मिलें लेकिन चुनाव आते ही पद यात्रा से लेकर घर घर संपर्क अभियान चलाया जाता है. रैली, रोड शो और तमाम तरह की कवायद की जाती है. लेकिन उत्तर मुंबई से बीजेपी उम्मीदवार गोपाल शेट्टी ने हद ही कर दी. 

उनका रोड शो मालाड के मालवणी इलाके से गुजर रहा था. मालवणी में झुग्गी  बस्तियों और चॉल की अच्छी खासी तादाद है. स्थानीय  लोग लंबे समय से शिकायत कर रहे थे कि उनके घरों में गंदे पानी की सप्लाई हो रही है लेकिन उनकी कौन सुनता. इसलिए जब नेताजी वोट मांगने के लिए आए तो लोगों ने भी मौका अच्छा जानकर एक गिलास में वो पानी ले आए जो उनके घऱ के नलों में आता है. लोग दरअसल नेताजी को ये दिखाना चाहते थे कि उनके घरों में कितना गंदा पानी आता है और वो कैसा पानी पीने को मजबूर हैं.

वोटरों को देखकर नेताजी भी जोश में आ गए ना सिर्फ उन्होंने गंदे पानी की समस्या से निपटने का वादा किया बल्कि गिलास में लाए गंदे पानी को पीने  की जिद करने लगे. नेताजी ने कहा कि जब आप लोग गंदा पानी पी सकते हैं तो वो क्यों नहीं पी सकते  हैं. बस, फिर क्या था उन्होंने गिलास मांगा और गंदा पानी गटक गए. वोटर भी ये देखकर हैरान थे.

 

गंदा पानी पीने के बाद बीजेपी उम्मीदवार गोपाल शेट्टी ने अपने विरोधी और कांग्रेस की उम्मीदवार उर्मिला मातोंडकर पर निशाना साधा. गोपाल शेट्टी ने कहा कि उन्होंने तो  गंदा पानी पीकर दिखा दिया लेकिन क्या उर्मिला मातोंडकर ऐसा कर सकती है.

साफ है कि नेताजी ने इस मौके  को भी विरोधी उम्मीदवार पर निशाना साधने का जरिया बना दिया. लेकिन बात चाहे जो भी हो इलाके के वोटर खुश हैं कि नेताजी ने वही पानी पिया जिसे पीने के लिए वो मजबूर हैं. लोगों को उम्मीद है कि आने वाले समय में नेताजी उनको पानी की समस्या से  जरूर निजात दिलवाएंगे और उनके क्षेत्र की पानी की समस्या हल हो जाएगा.