Breaking News
  • अकाली दल ने NDA से गठबंधन तोड़ा, पार्टी की कोर कमेटी में फैसला
  • पार्टी की नेता हरसिमरत कौर मोदी कैबिनेट से दे चुकी हैं इस्‍तीफा
  • कृषि बिल से नाराज है अकाली दल
  • IPL 2020: SRH vs KKR Live Score Update, केकेआर ने हैदराबाद को 7 विकेट से रौंदा

ये हैं नए 'बाइकबाज', रिकॉर्ड समय में तय किया कश्मीर से कन्याकुमारी तक का सफर

दोनों युवकों के इस कारनामे को लिम्‍का बुक ऑफ रिकार्डस में भी जगह मिल गई है. दरअसल, अंबाला कैंट के रहने वाले दो दोस्‍त लेह मनाली घूमने गए थे. यह सफर दोनों ने सिर्फ 12 घंटों में पूरा किया था.

ये हैं नए 'बाइकबाज', रिकॉर्ड समय में तय किया कश्मीर से कन्याकुमारी तक का सफर
अंबाला के बाइक सवारों ने बनाया रिकॉर्ड.

पुलकित मित्‍तल/अंबाला: यहां के कैंट के रहने वाले दो छात्रों ने बाइक के जरिए कश्‍मीर से कन्‍याकुमारी तक का सफर मात्र 87 घंटों में पूरा कर नया आयाम स्‍थापित किया है. दोनों युवकों के इस कारनामे को लिम्‍का बुक ऑफ रिकार्डस में भी जगह मिल गई है. दरअसल, अंबाला कैंट के रहने वाले दो दोस्‍त लेह मनाली घूमने गए थे. यह सफर दोनों ने सिर्फ 12 घंटों में पूरा किया था. तब इन्‍हें पता चला कि यह एक रिकॉर्ड है, जिसके बाद दोनों ने मन बनाया कि वे अपनी बाइक के जरिए कश्‍मीर से लेकर कन्‍याकुमारी तक का सफर तय कर नया रिकॉर्ड बनायेंगे. इससे पहले ये रिकॉर्ड 125 घंटों का है.

दोनों एक नया रिकॉर्ड बनाकर नया आयाम स्‍थापित करने की मन में ठाने घर से निकले. 2 जून 2018 को दोनों ने अपने सफर की शुरुआत की, जो 5 जून 2018 की शाम को समाप्‍त हुआ. आखिरकार दोनों ने मात्र 87 घंटों में अपनी यात्रा समाप्‍त कर एक नया रिकॉर्ड बना लिया. इतना ही नहीं दोनों की इस कामयाबी को लिम्‍का बुक आफ रिकॉर्डस में भी जगह मिली है. 

कश्‍मीर से लेकर कन्‍याकुमारी तक सफर करने वाले विशाल पुंडीर और अजय राणा दोनों दोस्‍त है और अभी पढ़ाई कर रहे हैं, लेकिन बाइक चलाने के इनके शौक ने इन्‍हें लिम्‍का बुक आफ रिकॉर्डस में जगह दिला दी. विशाल ने बताया कि उन्‍होंने इस पूरे सफर में मात्र दो ठहराव लिए और अपने सफर को 87 घंटों में पूरा कर दिया.

लाइव टीवी देखें-:

विशाल और अजय को इस सफर के दौरान काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. वे दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची जगह 'तंगलंग' पर गिर गए थे और काफी मुश्किलों के बाद आगे बढ़े थे. विशाल और अजय ने लिम्‍का बुक आफ रिकॉर्डस में जगह पाने के लिए पूरी मेहनत की और सारे नियमों का पालन किया तब जाकर दोनों अपना मुकाम हासिल कर पाए.