इस भालू को मिली है उम्रकैद की सजा, कारण सुन आप भी कहेंगे, 'बात तो बहुत मामूली थी'

ऐसा ही बेजुबान भालू इन दिनों कजाखस्‍तान के कोस्‍टनी जेल (UK-161/2) में सजा काट रहा है. कजाखस्‍तान के कोस्‍टनी जेल में 729 कैदी हैं और उन्हीं में से एक है कैट्या जो एक मादा भालू है वो भी सजा काटने को मजबूर है. 

इस भालू को मिली है उम्रकैद की सजा, कारण सुन आप भी कहेंगे, 'बात तो बहुत मामूली थी'
फोटो साभार:ट्विटर/zairolhamisam

नई दिल्ली : आपने इंसानों को तो सजा काटते हुए देखा होगा, लेकिन इस दुनिया में कई ऐसे कानून हैं, जो बेजुबान जानवरों को भी सजा देने का हक रखते हैं. एक ऐसा ही बेजुबान भालू इन दिनों कजाखस्‍तान के कोस्‍टनी जेल (UK-161/2) में सजा काट रहा है. कजाखस्‍तान के कोस्‍टनी जेल में 729 कैदी हैं और उन्हीं में से एक है कैट्या जो एक मादा भालू है और इन दिनों जेल की सलाखों के पीछे सजा काट रही है.

भालू को मिली है उम्र कैद की सजा
ये सुनने के बाद आपको जरूर थोड़ा परेशानी फील हुई होगी कि आखिरकार ऐसा क्या हुआ जो एक भालू को जेल की सलाखों के पीछे सजा काटनी पड़ रही है. तो आपको बता दें कि कैट्या को 2004 में जेल की सलाखों में कैद किया गया था. दरअसल, कैट्या ने दो इंसनों पर हमला कर दिया था, जिसके बाद उसे ताउम्र जेल में रहने की सजा मिली है. 

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कैट्या छोटी उम्र से ही लोगों के आकर्षण का केंद्र रही है. छोटी उम्र में सर्कस वालों ने कैट्या को अपने परिजनों से दूर कर एक पंजिरे में कैद कर दिय़ा था. इस पंजिरे में कैट्या को पर्यटक ही कुछ खाने को दिया करते थे. इसके बाद एक टूर्नामेंट के दौरान कैट्या के पिंजरे के पास एक 11 साल का मासूम कुछ खिलाने के लिए पहुंचा और उसने बच्चे पर हमला कर दिया. कैट्या के हमले में बच्चा बुरी तरह से घायल हो गया था. इस मामले के बाद कैट्या ने एक शख्स पर और हमला कर दिया था. 
हालांकि कहा जा रहा है कि जिस दूसरे शख्स पर कैट्या ने हमला किया था वह शराब के नशे में धुत था. 

दो हादसों के बाद प्रशासन ने लिया बड़ा एक्शन
कैट्या द्वारा दो हमले किए जाने के बाद प्रशासन ने चिड़ियाघर से उसे हटा दिया और इसके बाद यह फैसला लिय़ा गया है कि अब वह सिर्फ जेल की सलाखों के पीछे ही रहेगी. जेल प्रशासन का कहना है कि कैट्या अब उनके परिवार का हिस्सा बन चुकी है. उन्होंने बताया कि कैट्या के खाने और उसके रखरखाव में ज्यादा खर्च नहीं आता है.