पीवी सिंधू ने कहा, 'बैडमिंटन में दबदबा बनाने के लिए मैं अब भी कई शॉट सीख रही हूं'

अगले महीने ऑल इंग्लैंड ट्राफी जीतने के प्रबल दावेदारों में पीवी सिंधू शामिल हैं.

पीवी सिंधू ने कहा, 'बैडमिंटन में दबदबा बनाने के लिए मैं अब भी कई शॉट सीख रही हूं'
फाइल फोटो

गुवाहाटी: ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधू ने बुधवार को कहा कि उन्हें अब भी काफी कुछ सीखना है और विश्व बैडमिंटन में दबदबा बनाने के लिए उन्हें कुछ और शॉट सीखने की जरूरत है. ओलंपिक, विश्व चैंपियनशिप, एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों जैसी बड़ी प्रतियोगिताओं में रजत पदक जीतने वाली सिंधू ने पिछले तीन साल में विश्व में शानदार प्रदर्शन किया है. लेकिन यह भारतीय खिलाड़ी दुनिया की नंबर एक रैंकिंग हासिल करने में नाकाम रही. चीनी ताइपे ही ताइ जू यिंग 2016 से 14 खिताब जीतकर दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी बनी हुई हैं.

यह पूछने पर कि क्या उन्हें विश्व बैडमिंटन में दबदबा बनाने के लिए कुछ और शॉट जोड़ने की जरूरत है, सिंधू ने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर हां. यह मेरे लिए सिर्फ शुरुआत है. मुझे काफी कुछ और सीखना है. मेरे पास अच्छे शॉट हैं लेकिन मुझे रोजाना नए शॉट सीखना जारी रखना होगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन मुझे लगता है कि सिर्फ एक खिलाड़ी बैडमिंटन में दबदबा नहीं बना सकता क्योंकि काफी खिलाड़ियों के आने से खेल में बदलाव आ रहा है. साथ ही किसी निश्चित दिन आपको शत प्रतिशत होने की जरूरत होगी, एक प्रतिशत भी कम नहीं. अगर आप दुनिया में एक से 20 नंबर की खिलाड़ियों को देखो तो उनका स्तर समान है इसलिए आपको हमेशा एकाग्रता बनाए रखनी होती है.’’ 

अगले महीने ऑल इंग्लैंड ट्राफी जीतने के प्रबल दावेदारों में शामिल सिंधू ने कहा कि वह इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में खिताब के भारत के 18 साल के इंतजार को खत्म करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं. उन्होंने कहा, ‘‘इस हफ्ते के बाद ऑल इंग्लैंड के लिए सिर्फ दो हफ्ते बचेंगे. मुझे पता है कि कैरोलिन मारिन वहां नहीं होंगी (चोट के कारण) लेकिन यह आसान नहीं होगा क्योंकि कुछ काफी अच्छी खिलाड़ी मौजूद हैं और मैच के दिन जो सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेगा वह जीतेगा.’’ 

भारत के खिताब के सूखे को खत्म करने के बारे में पूछने पर सिंधू ने कहा, ‘‘उम्मीद करती हूं कि ऐसा होगा, मुझे लगता है कि कोई अगर कोई ऐसा कर पाया तो अच्छा होगा और निश्चित तौर पर हम इसके लिए काम करेंगे.’’

(इनपुट भाषा से)