close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

AFC Asian Cup: यूएई से हारा भारत, फिर भी नॉकआउट में मिल सकती है जगह

भारतीय फुटबॉल टीम को थाईलैंड से जीत के बाद यूएई के हाथों हार का सामना करना पड़ा.

AFC Asian Cup: यूएई से हारा भारत, फिर भी नॉकआउट में मिल सकती है जगह
(फोटो: IANS)

अबू धाबी: एएफसी एशियन कप में भारतीय फुटबाल टीम को एक बड़ा झटका लगा है. भारतीय टीम को ग्रुप-ए के दूसरे मुकाबले में गुरुवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के खिलाफ 0-2 से हार झेलनी पड़ी. टीम ने टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में थाईलैंड के खिलाफ 4-1 से ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी. यूएई इस जीत के बाद चार अंकों के साथ पहले पायदान पर पहुंच गया है. थाईलैंड और भारत के तीन-तीन अंक हैं लेकिन गोल अंतर के आधार पर भारतीय टीम दूसरे स्थान पर बनी हुई है और टूर्नामेंट के नॉकआउट स्तर पर पहुंचने की उसकी उम्मीदें बरकरार हैं. 

थाईलैंड ने अपने दूसरे ग्रुप मुकाबले में बहरीन को 1-0 से मात दी थी. बहरीन एक अंक के साथ आखिरी पायदान पर मौजूद है. यूएई के लिए इस रोमांचक मैच में खल्फान मुबारक अल शम्सी और अली अहमद मबखौत ने गोल किए. जायेद स्पोर्ट्स सिटी में घरेलू दर्शकों के सामने मेजबान यूएई की शुरुआत शानदार रही. यूएई ने गेंद को अपने नियंत्रण में रखते हुए अटैक किया और दूसरे मिनट में ही भारतीय गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू को 18 गज के बॉक्स के अंदर बचाव करना पड़ा. 

Ind vs UAE in AFC Asian cup

भारतीय टीम यूएई द्वारा किए गए शुरुआती आक्रमण से जल्द ही उबरने में कामयाब रही और सातवें मिनट में पहला अटैक किया. राइटबैक प्रीतम कोटाल ने मेजबान टीम के बॉक्स में बेहतरीन खेल दिखाया और मैच का पहला कॉर्नर अर्जित किया. हालांकि, डिफेंडर संदेश झिंगन हेडर के जरिए गेंद को गोल में नहीं डाल पाए.

मैच के 11वें मिनट में भारत ने एक बार फिर अटैक किया. इस बार कप्तान छेत्री ने अपनी बाईं ओर फारवर्ड खिलाड़ी अशिक कुरुनियान को पास दिया लेकिन यूएई के गोलकीपर खालिद ईसा ने शानदार बचाव करते हुए मेजबान टीम को मैच में पिछड़ने नहीं दिया. ईसा ने 23वें मिनट में एक बार फिर शानदार बचाव किया. इस बार उन्होंने छेत्री के हेडर को गोल में जाने से रोक दिया. 

पहले हॉफ में ही बना ली थी यूएई ने बढ़त
भारत ने अपना अटैंकिंग खेल जारी रखा लेकिन पहला हाफ समाप्त होने से पहले मेजबान टीम बढ़त बनाने में कमयाब रही. 42वें मिनट में शम्सी ने बॉक्स के अंदर से शानदार गोल करते हुए स्कोर 1-0 कर दिया. राष्ट्रीय टीम के लिए शम्सी का यह पहला गोल है. कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन ने दूसरे हाफ में एक बदलाव किया और हालीचरण नारजारे की जगह पिछले मैच में गोल करने वाले स्ट्राइकर जेजे लालपेखलुआ को मैदान पर लेकर आए. जेजे ने कोच के भरोसे को सही साबित किया और 53वें बॉक्स के बाहर से शानदार प्रयास किया. इसके दो मिनट बाद, बॉक्स में दाईं ओर से विंगर उदांता सिंह ने गोल करने का बेहतरीन प्रयास किया लेंकिन गेंद पोस्ट पर लगकर बॉक्स के बाहर चली गई.

भारत को भले ही गोल करने के अधिक मौके मिले लेकिन फीफा रैंकिंग में 79वें स्थान पर मौजूद यूएई ने अधिक बॉल पाजेशन रखा. 75वें मिनट में अल हम्मादी ने बॉक्स के अंदर से गोल करने की कोशिश की और गेंद कोटाल के पांव से लगकर पोस्ट पर लगी लेकिन संधू उसे पकड़ने में कामयाब नहीं हो पाए. हालांकि, वह भाग्यशाली रहे कि गेंद गोल में नहीं गई. मैच के अंतिम क्षणों में भारतीय टीम ने लौंग बॉल खेलते हुए बराबरी का गोल करने का प्रयास किया लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाई. 88वें मिनट में मबखौत ने गोल करके मेजबान टीम की जीत सुनिश्चित कर दी. भारतीय टीम ग्रुप स्तर का अपना आखिरी मैच बहरीन के खिलाफ सोमवार को खेलेगी. 

(इनपुट आईएएनएस)