INDvsAUS: ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बने

ऋषभ पंत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच में शतकीय पारी खेली. 

INDvsAUS: ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया में शतक लगाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बने
ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा सीरीज में 300 से अधिक रन बना चुके हैं. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: 21 साल के ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट शतक लगाने वाले भारत के पहले विकेटकीपर बन गए हैं. उन्होंने सिडनी में खेले जा रहे चौथे टेस्ट (Sydney Test) में शतकीय पारी खेली. उनकी इस पारी की बदौलत भारत 500 से बड़ा स्कोर बनाने में कामयाब रहा. वहीं, ऋषभ पंत ने बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए. उन्होंने अपनी इस पारी के दौर रवींद्र जडेजा के साथ शतकीय साझेदारी भी की. 

ऋषभ पंत अब दुनिया के दूसरे ऐसे मेहमान विकेटकीपर बन गए हैं, जिन्होंने इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दोनों देशों में टेस्ट शतक बनाए हैं. उनके अलावा सिर्फ वेस्टइंडीज के डू जॉन ऐसा कर सके हैं. डू जॉन ने 1984 में दोनों देशों में शतक बनाए थे. ऋषभ पंत ने पिछले साल सितंबर में इंग्लैंड के खिलाफ ओवल टेस्ट (लंदन) में 114 रन की पारी खेली थी. 

यह भी पढ़ें: VIDEO: चेतेश्वर पुजारा रिकॉर्ड चौथे दोहरे शतक के करीब पहुंचकर लॉयन की फिरकी में फंसे

ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया दौरे (India vs Australia) पर पहले टेस्ट से ही बेहतरीन फॉर्म में हैं. उन्होंने हर मैच में अच्छी शुरुआत की. हालांकि, वे इन शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल पा रहे थे. सिडनी में सीरीज का अंतिम टेस्ट खेला जा रहा है और पंत के लिए ऑस्ट्रेलिया में बड़ी पारी खेलने का यह आखिरी मौका था. उन्होंने इस मौके को जाया नहीं होने नहीं दिया और मैच के दूसरे दिन शुक्रवार (4 जनवरी) को शतक जमा दिया. 

ऋषभ पंत शुक्रवार को हनुमा विहारी (42) के आउट होने के बाद क्रीज पर आए. उन्होंने आते ही बेहतरीन शॉट खेले और लंच-ब्रेक के थोड़ी ही देर बाद 50 रन (85 गेंद) पूरे किए. पंत यहीं नहीं रुके और दूसरे छोर पर चेतेेेेश्वर पुजारा (193 रन) के आउट होने के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों पर दबाव बनाए रखा. उन्होंने टी-ब्रेक के बाद जल्दी ही अपना शतक पूरा कर लिया. उन्हें अपना शतक 137वीं गेंद पर पूरा किया. 

ऋषभ पंत इस सीरीज में 300 से अधिक रन बना चुके हैं. इसके अलावा वे 20 कैच भी लपक चुके हैं. इस तरह वे भारत के ऐसे पहले विकेटकीर बन गए हैं, जिन्होंने एशिया के बाहर 200 से अधिक रन और 20 से अधिक कैच लपके हैं.