MS धोनी के भविष्य को लेकर मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने दिया यह बड़ा बयान

 बीते वर्षो में धोनी की बल्लेबाजी की काफी आलोचना हुई थी, लेकिन ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के दौरे पर उन्होंने अपनी बल्लेबाजी से सभी को खामोश कर दिया है.

MS धोनी के भविष्य को लेकर मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने दिया यह बड़ा बयान
प्रसाद ने कहा कि विश्वकप में महेंद्र सिंह धोनी टीम का अहम हिस्सा हैं.

नई दिल्ली: बीसीसीआई की सीनियर चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद ने महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य के लेकर बड़ा बयान दिया है. प्रसाद ने अपने बयान में कहा कि इंग्लैंड के खिलाफ इसी साल होने वाले विश्वकप में महेंद्र सिंह धोनी टीम का अहम हिस्सा हैं. बीते वर्षो में धोनी की बल्लेबाजी की काफी आलोचना हुई थी, लेकिन ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के दौरे पर उन्होंने अपनी बल्लेबाजी से सभी को खामोश कर दिया है. 

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो को दिए गए इंटरव्यू में प्रसाद ने धोनी को लेकर कहा, "धोनी ने जिस तरह ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में प्रदर्शन किया है उससे एक बात साफ है. उन्होंने तय कर लिया है कि वह अपना स्वाभाविक खेल खेलेंगे. यह वो धोनी हैं जिन्हें हम जानते हैं."

उन्होंने कहा, "हम काफी खुश होंगे अगर धोनी इसी तरह अपनी बेखौफ बल्लेबाजी करते रहें. कई बार समय कम होने के कारण वह कम रन बना पाते हैं, लेकिन अब वह लगातार खेल रहे हैं तो आप उनमें बदलाव देख सकते हैं."

पूर्व विकेटकीपर ने कहा, "एक अहम बात यह है कि भारत जब विश्वकप के लिए जाएगा उससे पहले धोनी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) खेल रहे होंगे. वह 14-16 मैच खेलेंगे और यह सभी अच्छे मैच होंगे. इससे उन्हें अपनी फॉर्म को बरकरार रखने में मदद मिलेगी जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के दौरे पर हासिल की है. मैं उनकी बल्लेबाजी से काफी खुश हूं." धोनी अगर इस विश्वकप में जाते हैं तो यह उनका चौथा विश्वकप होगा. 
 
विश्वकप टीम में शामिल हो सकते हैं पंत, शंकर, रहाणे 
प्रसाद ने कहा कि ऋषभ पंत, विजय शंकर और अंजिक्य रहाणे विश्वकप के लिए चुनी जाने वाली भारतीय टीम का हिस्सा हो सकते हैं. आईसीसी क्रिकेट विश्वकप इस वर्ष इंग्लैंड और वेल्स में होना है और भारत को खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. प्रसाद ने माना कि पंत के बेहतरीन प्रदर्शन ने चयनकर्ताओं की मुश्किलें बढ़ा दी हैं और विजय की बल्लेबाजी ने विश्वकप के लिए चुनी जाने वाली टीम को एक नया आयाम दिया है. 

'क्रिकइंफो' ने प्रसाद के हवाले से बाताया, "निश्चित रूप से पंत रेस में हैं. उन्होंने चयनकर्ताओं की मुश्किलें बढ़ा दी हैं जोकि एक अच्छी चीज है. पिछले एक साल में खेल के सभी प्रारूपों में पंत का प्रदर्शन दमदार रहा है. हमें महसूस हुआ कि उन्हें परिपक्व होने की जरूरत इसलिए हमने उन्हें इंडिया-ए की हर संभव सीरीज में शामिल किया."

पंत ने 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ केवल तीन वनडे मैच खेले लेकिन टेस्ट क्रिकेट और इंडिया-ए की ओर से किए गए शानदार प्रदर्शन के लिए चयनकर्ताओं ने उनकी सराहना की. विश्वकप के लिए पंत को भारतीय टीम में बतौर बल्लेबाज भी शामिल किया जा सकता है क्योंकि महेंद्र सिंह धोनी और दिनेश कार्तिक के रूप में चयनकार्ताओं के पास विकेटकीपर का विकल्प पहले से ही मौजूद है.