PAKvSL: 13 साल में पहली बार घर में टेस्ट जीता पाकिस्तान, भारत के रिकॉर्ड की बराबरी की

Pakistan vs Sri Lanka: पाकिस्तान ने कराची में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में श्रीलंका को 263 रन से हराया. सीरीज भी जीती. 

PAKvSL: 13 साल में पहली बार घर में टेस्ट जीता पाकिस्तान, भारत के रिकॉर्ड की बराबरी की
पाकिस्तान ने दो मैचों की टेस्ट सीरीज 2-1 से अपने नाम की. (फोटो: Reuters)

कराची: पाकिस्तानी क्रिकेटप्रेमियों का घरेलू मैदान पर अपनी टीम को टेस्ट मैच में जीतते हुए देखने का बरसों पुराना सपना पूरा हो गया है. पाकिस्तानी क्रिकेट टीम (Pakistan) ने कराची में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में श्रीलंका (Sri Lanka) को 263 रन के बड़े अंतर से हरा दिया है. इसके साथ ही उसने दो मैचों की सीरीज (Sri Lanka vs Pakistan) 1-0 से जीत ली. पाकिस्तान की जीत के हीरो उसके बल्लेबाज रहे. दूसरी पारी में उसके टॉप-ऑर्डर के चारों बल्लेबाजों ने शतक जमाए और ऐसा करके उन्होंने भारत के अनोखे रिकॉर्ड की बराबरी भी की. 

यह पाकिस्तान क्रिकेट टीम की 13 साल में अपने घर पर पहली टेस्ट जीत है. उसने इससे पहले एक दिसंबर 2006 को कराची में ही वेस्टइंडीज को 199 रन से हराया था. पाकिस्तान की टीम ने इसके बाद 2008 और 2009 में भी अपने घर में टेस्ट मैच खेले, लेकिन उसे जीत नहीं मिली. 2009 में ही श्रीलंकाई खिलाड़ियों पर आतंकी हमला हुआ और इसके बाद किसी भी विदेशी टीम ने पाकिस्तान जाने से इंकार कर दिया. उस आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान दौरे पर पहली बार कोई टीम (श्रीलंका ही) टेस्ट मैच खेलने गई थी. 

यह भी पढ़ें: Year Ender: भारत रहा 2019 का बेताज बादशाह, जीत से लेकर रन-विकेट सबमें अव्वल Indian 

मेजबान पाकिस्तान और श्रीलंका (Pakistan vs Sri Lanka) के बीच पहला टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था. दूसरे टेस्ट मैच पाकिस्तान की टीम अपनी पहली पारी में 191 रन पर ढेर हो गई थी. श्रीलंका ने अपनी पहली पारी में 271 रन बनाए. इस तरह उसने पाकिस्तान पर 80 रन की बढ़त ली थी. पाकिस्तान के बल्लेबाजों ने दूसरी पारी में खेल बराबर कर दिया. उसके चार बल्लेबाजों आबिद अली (174), शान मसूद (135), अजहर अली (118) और बाबर आजम (100*) ने शतकीय पारियां खेलीं. पाकिस्तान ने अपनी दूसरी पारी तीन विकेट पर 555 रन बनाकर घोषित कर दी. 

 

इस तरह पाकिस्तान ने श्रीलंका को जीत के लिए 476 रन का लक्ष्य दिया. श्रीलंका की टीम इसके जवाब में 62.5 ओवर में 212 रन बनाकर आउट हो गई. श्रीलंका की ओर से ओशाडा फर्नांडो (102) ने शतक जमाया. निरोशन डिकवेला (65) ने भी अर्धशतकीय पारी खेली. लेकिन बाकी बल्लेबाज ज्यादा देर क्रीज पर नहीं टिक सके. 

यह भी पढ़ें: INDvsWI: 6 गेंद पर 17 रन ठोकने वाले शार्दुल बोले, विराट के विकेट के बारे में सोचता तो... 

यह मैच रिकॉर्ड के लिहाज से भी ऐतिहासिक रहा. यह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सिर्फ दूसरा मौका है, जब किसी टेस्ट किसी टीम के पहले चार बल्लेबाजों ने शतक लगाए. पहली बार यह कारनामा भारतीय बल्लेबाजों ने किया था. साल 2007 में भारत के टॉप-4 बल्लेबाजों ने वसीम जाफर (138), दिनेश कार्तिक (129), राहुल द्रविड़ (129), सचिन तेंदुलकर (122) ने बांग्लादेश के खिलाफ शतक लगाए थे. अब पाकिस्तान के आबिद अली (174), शान मसूद (135), अजहर अली (118) और बाबर आजम (100*) ने यह कारनामा दोहरा दिया है. 

यह भी पढ़ें: 2010S: विराट कोहली हैं इस दशक के किंग, कोई नहीं है टक्कर में 

इस मैच के साथ ही आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (ICC World Test Championship) में बड़ा बदलाव आ गया है. पाकिस्तान की टीम इस जीत से तीन स्थान की छलांग लगाकर तीसरे नंबर पर आ गई है. अब उसके 80 अंक हैं. भारतीय टीम (360) पहले और ऑस्ट्रेलिया (216) दूसरे नंबर पर है. 

(इनपुट: एजेंसी)