पाकिस्तानी क्रिकेट का संकट बढ़ा, कोच ने कप्तान सरफराज को हटाने की सिफारिश की

विकेटकीपर बल्लेबाज सरफराज अहमद पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के तीनों फॉर्मेट के कप्तान हैं. 

पाकिस्तानी क्रिकेट का संकट बढ़ा, कोच ने कप्तान सरफराज को हटाने की सिफारिश की
पाकिस्तान टीम के कोच मिकी आर्थर. (फाइल फोटो)

लाहौर: पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच मिकी आर्थर ने सरफराज अहमद को कप्तानी से बर्खास्त करने का सुझाव दिया है. द न्यूज डॉट कॉम डॉट पीके रिपोर्ट के अनुसार, आर्थर ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) से कहा है कि सरफराज की जगह तेज गेंदबाज शादाब खान को सीमित ओवरों के लिए कप्तान बना दिया जाए. बाबर आजम को टेस्ट टीम के लिए कप्तानी सौपें जाने की सिफारिश की गई है. 

मिकी आर्थर ने दो अगस्त को हुई पीसीबी क्रिकेट समिति की बैठक में अपने कार्यकाल को आगे बढ़ाने की मांग की थी. इसके अलावा उन्होंने उनके सहायक कोच के रूप में पाकिस्तानी नागरिक को भी नियुक्त करने का सुझाव दिया है. कोच की इस मांग पर पीसीबी अब सीनियर क्रिकेटरों की सलाह ले रहा है. कई सीनियर क्रिकेट आर्थर के प्रदर्शन से संतुष्ट नहीं हैं और उनका मानना है कि मुश्किल समय में कोच टीम को बाहर निकालने में विफल रहे हैं.  

पीसीबी के एक अधिकारी के अनुसार, श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने को आर्थर की जगह नए कोच बनाने के भी सुझाव मिल रहे हैं. पूर्व क्रिकेटरों का मानना है कि पाकिस्तान को एक ऐसा कोच नियुक्त करना चाहिए जो तीनों प्रारूपों में खेल चुका हो. वहीं, मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आर्थर ने पीसीबी अधिकारियों से कहा कि उनका कार्यकाल दो साल के लिए बढ़ा दिया जाए, तभी वे महत्वपूर्ण रिजल्ट दे सकेंगे. 

पाकिस्तान के विश्व कप से बाहर होने के बाद कई पूर्व क्रिकेटरों ने कप्तान बदलने की बात की थी. पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का मानना है कि हैरिस सोहैल को वनडे और टी20 का कप्तान बनाया जाना चाहिए. मिकी आर्थर की तरह अख्तर ने भी कहा कि बाबर आजम को टेस्ट टीम का कप्तान नियुक्त करना चाहिए. 

इससे पहले, सरफराज, मुख्य चयनकर्ता इंजमाम उल हक और कोच आर्थर टीम के पिछले चार साल के प्रदर्शन का लेखा जोखा लेकर पीसीबी की क्रिकेट समिति के समक्ष पेश हुए थे. पाकिस्तान की टीम आईसीसी विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह नहीं बना सकी थी. 

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.