इस भारतीय गेंदबाज ने दी कोच को गाली, माफी मांगने से किया इनकार; टीम ने कर दिया बाहर

कोच रणदेव बोस टीम के अभ्यास सत्र से पहले कप्तान अभिमन्यु ईश्वरन से बातचीत कर रहे थे. तभी ये घटना हुई.

इस भारतीय गेंदबाज ने दी कोच को गाली, माफी मांगने से किया इनकार; टीम ने कर दिया बाहर

कोलकाता: भारतीय तेज गेंदबाज अशोक डिंडा (Ashok Dinda) ने पिछले छह साल से भारत के लिए कोई वनडे नहीं खेला. उन्होंने अपना अंतिम वनडे इंग्लैंड के खिलाफ 11 जनवरी, 2013 में राजकोट में खेला था. डिंडा को रणजी टीम से बाहर का रास्ता दिखा गया है. वजह है कोच के साथ दुर्व्यवाहर. डिंडा ने टीम प्रैक्टिस के दौरान गेंदबाजी कोच रणदेव बोस को अपशब्द कहे थे. जिसके बाद बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन (सीएबी) ने एक बैठक बुलाई और डिंडा पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हें आंध्र प्रदेश के खिलाफ होने वाले मैच से पहले बंगाल की रणजी टीम से बाहर कर दिया.

बंगाल ने अपने पहले मैच में केरला को हराया था. टीम बुधवार से ईडन गार्डन्स मैदान पर आंध्र के खिलाफ शुरू हुए मैच की पूर्वसंध्या पर अभ्सास कर रही थी. कोच रणदेव बोस टीम के अभ्यास सत्र से पहले कप्तान अभिमन्यु ईश्वरन से बातचीत कर रहे थे. तभी डिंडा ने कोच को अपशब्द कहे थे. इसके बाद बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन (सीएबी) ने एक बैठक बुलाई और डिंडा पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए उन्हें आंध्र प्रदेश के खिलाफ होने वाले मैच से पहले बंगाल की रणजी टीम से बाहर कर दिया.

सीएबी सूत्रों के अनुसार, बैठक में डिंडा को कोच से माफी मांगने के लिए कहा गया था, लेकिन डिंडा ने माफी मांगने से मना कर दिया और फिर इसके बाद उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया. बंगाल कोच अरुण लाल ने डिंडा की अनुपस्थिति को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा कि यह नकारात्मक बात नहीं है. यह एक और डिंडा को खोजने का अवसर है. कुछ युवा गेंदबाज आते हैं और विकेट लेते हैं. अचानक ही पूरा संतुलन बदल जाता है. डिंडा अब नहीं खेलेंगे. यह कैब का निर्णय है."

ये भी देखें:

35 वर्षीय डिंडा ने भारत के लिए 13 वनडे और 9 अंतरराष्ट्रीय टी-20 मैच खेले हैं. उन्होंने मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी में नहीं खिलाए जाने पर पहले ही धमकी दी थी कि वह बंगाल के लिए नहीं खेलेंगे.