close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Ranji Trophy: उमेश यादव की BEST बॉलिंग से 106 रन पर ढेर, विदर्भ ने 65 रन की बढ़त ली

विदर्भ ने रणजी ट्रॉफी के पहले सेमीफाइनल में केरल को सस्ते में समेटा. उमेश यादव ने सात और रजनीश गुरुबानी ने तीन विकेट लिए. 

Ranji Trophy: उमेश यादव की BEST बॉलिंग से 106 रन पर ढेर, विदर्भ ने 65 रन की बढ़त ली
उमेश यादव ने 12 ओवर के अपने स्पेल में सिर्फ 48 रन खर्च किए और सात विकेट झटके. (फाइल फोटो)

वायनाड (केरल): तेज गेंदबाज उमेश यादव (7/48) के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत मौजूदा चैंपियन विदर्भ ने रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy 2018-19) सेमीफाइनल में केरल को पहली पारी में 106 रन पर समेट दिया. उमेश यादव ने करियर की बेस्ट बॉलिंग करते हुए 12 ओवर के अपने स्पेल में केरल के सात बल्लेबाजों को पैवेलियन लौटाया. विदर्भ ने इसके बाद दिन का खेल खत्म होने तक पांच विकेट पर 171 रन बना लिए. इस तरह उसने शुरुआती दिन ही विपक्षी टीम पर 65 रन की बढ़त लेकर सेमीफाइनल में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है.  

रणजी ट्रॅाफी के सेमीफाइनल मुकाबले गुरुवार को शुरू हुए. पहले सेमीफाइनल में मेजबान केरल ने विदर्भ के खिलाफ पहले बैटिंग की. विदर्भ ने केरल का पहला विकेट नौ रन के स्कोर पर झटका. केरल की टीम इस शुरुआती झटके से अंत तक नहीं उबर सकी. उसने 17 रन पर दूसरा, 27 रन पर तीसरा और 28 रन पर चौथा विकेट गंवाया. 40 के स्कोर पर पांचवां और 46 रन पर छठा विकेट गंवाने वाली टीम को विष्णु विनोद ने तिहरे अंक तक पहुंचाया. 

यह भी पढ़ें: टीम इंडिया के लिए राहत की खबर, हार्दिक पांड्या-केएल राहुल का प्रतिबंध खत्म

केरल के लिए सातवें नंबर पर बैटिंग करने आए इस बल्लेबाज ने नाबाद 37 रन बनाए. उनके अलावा कप्तान सचिन बेबी (22) और बासिल थम्पी (10) ही दोहरे अंक में पहुंचे. विदर्भ के लिए उमेश यादव ने 48 रन देकर सात विकेट लिए, जो उनके प्रथम श्रेणी करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. इससे पहले उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 74 रन देकर सात विकेट था. केरल के बाकी तीन विकेट रजनीश गुरबाणी (38 रन देकर तीन) ने लिए. विदर्भ ने केवल तीन गेंदबाजों का इस्तेमाल किया. केरल के बल्लेबाजों के पास इन गेंदबाजों की सटीक लाइन लेंथ का कोई जवाब नहीं था। 

इसके बाद विदर्भ ने भी ओपनर संजय रामास्वामी (19) का विकेट जल्दी गंवा दिया, लेकिन इसके बाद फजल और बेहतरीन फार्म में चल रहे अनुभवी बल्लेबाज वसीम जाफर (34) ने दूसरे विकेट के लिए 80 रन जोड़े. एमडी निधीश (53 रन देकर दो विकेट) ने जाफर को पवेलियन भेजा. विदर्भ ने दिन के अंतिम क्षणों में एक रन के अंदर तीन विकेट गंवाए जिनमें फजल भी शामिल थे जिन्हें संदीप वारियर (46 रन देकर दो) ने विकेट के पीछे कैच कराया. विदर्भ की पारी का आकर्षण फैज फजल की 75 रन की पारी रही. दिन का खेल खत्म होने के समय आदित्य सरवटे बिना खाता खोले नाबाद थे. 

कर्नाटक ने 264 रन पर 9 विकेट गंवाए
दूसरे सेमीफाइनल के पहले दिन कर्नाटक ने सौराष्ट्र के खिलाफ नौ विकेट के नुकसान पर 264 रन बनाए. बेंगलुरू में खेले जा रहे मैच में कर्नाटक ने एक समय महज 40 रन चार विकेट गंवा दिए थे. लेकिन श्रेयस गोपाल (87), श्रीनिवास शरथ (नाबाद 74) और कप्तान मनीष पांडे (62) ने टीम को काफी हद तक संभाल लिया. जब दिन का खेल खत्म हुआ तब शरथ के साथ रोनित मोरे क्रीज पर मौजूद थे. मयंक अग्रवाल इस मैच में खाता भी नहीं खोल सके.