close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गदगद विराट कोहली बोले, 'लोग तो बहुत कुछ कहते हैं, लेकिन धोनी जैसा कोई नहीं'

जीत के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने धोनी की जमकर तारीफ की. 

गदगद विराट कोहली बोले, 'लोग तो बहुत कुछ कहते हैं, लेकिन धोनी जैसा कोई नहीं'
कोहली ने कहा कि बल्लेबाजी क्रम में चौथे नंबर को मजबूत बनाने की जरूरत है...(फोटो: ANI)

मेलबर्न: महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 87) और केदार जाधव (नाबाद 61) के बीच चौथे विकेट के लिए हुई 121 रनों की साझेदारी के दम पर भारत ने शुक्रवार को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) पर खेले गए तीसरे और निर्णायक वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया को सात से विकेट मात दी. इसी के साथ भारत ने तीन मैचों की वनडे सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली है. इसी के साथ भारत ने इस सीरीज में इतिहास रचा है. यह उसकी ऑस्ट्रेलिया में पहली द्विपक्षीय सीरीज जीत है.

मैच के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने धोनी की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा, "एक टीम के रूप में, हम धोनी से बहुत खुश हैं कि उन्होंने बल्ले से अपना कमाल दिखाया. लोग उनके बारे में बहुत कुछ कहते हैं लेकिन व्यक्तिगत तौर पर हम जानते हैं कि भारतीय क्रिकेट में धोनी धोनी से ज्यादा समर्पित कोई खिलाड़ी नहीं है. लोगों को उन्हें कुछ राहत देनी चाहिए क्योंकि उन्होंने भारतीय क्रिकेट को बहुत कुछ दिया है."  कोहली ने कहा, "हम इस दौरे से बहुत खुश हैं, एक टीम के तौर पर हमने तीनों सीरीज में बेहतर प्रदर्शन किया. कप्तान के तौर पर, मैं बहुत खुश हूं क्योंकि टीम ने संतुलित प्रदर्शन किया है जो कि विश्वकप से पहले अच्छा संकेत है." 

पांचवां नंबर धोनी के लिए उत्तम बल्लेबाजी क्रम
उन्होंने कहा, "वह भारत के सबसे बुद्धिमान क्रिकेटरों में से हैं. वह उनमें से नहीं है जिन्हें पता नहीं होता कि क्या करने की जरूरत है. एक टीम के रूप में हमें पता है कि वह क्या कर रहे हैं और हम सभी उनके लिए खुश हैं." उन्होंने यह भी कहा कि पांचवां नंबर धोनी के लिए उत्तम बल्लेबाजी क्रम है. कोहली ने कहा, "धोनी ने 2016 में कुछ समय चौथे नंबर पर बल्लेबाजी की लेकिन उसके बाद वह पांचवें छठे नंबर पर उतरकर खुश है. पांचवां नंबर उनके लिए उत्तम है. एडिलेड में वह इस क्रम पर काफी सहज दिखे." 

कोहली ने कहा कि बल्लेबाजी क्रम में चौथे नंबर को मजबूत बनाने की जरूरत है जबकि कुछ महीने पहले तक वह इस साल होने वाले विश्वकप के लिए अंबाती रायुडू को इस क्रम के लिए उपयुक्त बताया. कोहली ने कहा कि चौथे नंबर पर काफी प्रयोग हो चुके हैं. एडिलेड में बल्लेबाजी क्रम आदर्श था जिसमें रायुडू चौथे नंबर पर उतरे थे लेकिन वह टीम संयोजन में प्रयोग करते रहेंगे जब तक कोई चौथे नंबर पर जिम्मेदारी नहीं ले लेता. कोहली ने जीत के बाद कहा, "पिछला मैच देखें तो अंबाती रायुडू चौथे नंबर पर उतरा, धोनी पांचवें और दिनेश कार्तिक छठे नंबर पर क्योंकि हमने विजय शंकर और केदार जाधव को उतारा. हम कार्तिक की जगह बदलना नहीं चाहते क्योंकि वह अच्छा खेल रहा है."  

कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पिछले साल घरेलू सीरीज में रायुडू को चौथे नंबर पर उतारने की पैरवी की थी. उन्होंने आज कहा, "एडीलेड में बीच के ओवरों में कोई परेशानी नहीं हुई और क्रम काफी संतुलित लगा लेकिन चौथे नंबर को हमें और मजबूत बनाने की जरूरत है, जो भी इस नंबर पर उतरेगा, उसे विश्वकप तक जिम्मेदारी लेनी होगी." 

कप्तानी के बारे में उन्होंने कहा कि टीम अच्छी होती है तो कप्तान भी अच्छा होता है. उन्होंने कहा, "कप्तानी व्यक्तिगत नियंत्रण की बात नहीं है. टीम अच्छी है तो कप्तान भी अच्छा होता है. मैने टेस्ट सीरीज के बाद भी यह कहा था. श्रेय हर किसी को जाता है क्योंकि सभी ने इसमें योगदान दिया है. हम ऑस्ट्रेलिया से हारे बिना जा रहे हैं और हमारे लिए यह यादगार दौरा रहा."