close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

India Open Boxing: मैरीकॉम को एक और गोल्ड, सरिता ने 3 साल बाद जीता सोना

पुरुष बॉक्सरों में अमित पंघल और शिवा थापा ने टूर्नामेंट का अंत गोल्ड मेडल जीतकर किया.  

India Open Boxing: मैरीकॉम को एक और गोल्ड, सरिता ने 3 साल बाद जीता सोना
एमसी मैरीकॉम और एल. सरिता देवी गोल्ड मेडल जीतने के बाद. (फोटो: PTI/ANI)

गुवाहाटी: छह बार की विश्व विजेता एमसी मैरीकॉम ने शुक्रवार को इंडिया ओपन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट के 52 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक अपने नाम किया. मैरीकॉम के अलावा सरिता देवी तीन साल से चले आ रहे अपने स्वर्ण पदक के सूखे को खत्म करने में सफल रही हैं. सरिता ने 60 किग्रा वर्ग में सोने का तमगा जीता. इससे पहले उन्होंने शिलांग में 2016 में दक्षिण एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था. 57 किग्रा वर्ग के मुकाबले में नीरज ने मनीषा मौन को मात दे सोने का तमगा हासिल किया. 

मैरीकॉम ने फाइनल में वेनिला दुआती को 5-0 से मात दी. यह मैरीकॉम का इंडिया ओपन का दूसरा स्वर्ण है. इससे पहले वो 48 किग्रा वर्ग में स्वर्ण जीत चुकी हैं.  सरिता देवी ने फाइनल में सिमरनजीत कौर को 3-2 से मात देते हुए स्वर्ण हासिल किया. यह सरिता का बीते तीन साल में पहला स्वर्ण है. उन्होंने यह पदक अपनी मां को समर्पित किया है जिन्होंने कैंसर के कारण अपनी जान गंवा दी थी.

पुरुषों में अमित पंघल (52 किग्रा) और शिवा थापा (60 किग्रा) ने टूर्नामेंट का अंत स्वर्ण जीतते हुए किया है. पंघल ने फाइनल में अपने ही देश के सचिन सिवाच को मात दी. अमित पहले राउंड में डिफेंसिव खेले, लेकिन दूसरे राउंड का अंत होने तक आक्रामक हो गए. यहां से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और सचिन को मात दी.

शिवा ने अपने घर में बेहतरीन प्रदर्शन कर भारत के ही मनीष कौशिक को मात दी. इसी के साथ शिवा ने 2018 में मनीष के हाथों मिली हार का बदला भी ले लिया. गुवाहाटी के शिवा ने यह मैच 5-0 से जीता. एशियन चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता दीपक ने 49 किग्रा वर्ग में गोविंद कुमार साहानी को 5-0 से पटका. बेहतरीन फॉर्म में चल रहे कविंदर सिंह बिष्ट को भी आखिरीकार हार मिली. उन्हें चाटचाई डेचा बुटदी ने हराया. 

एशियन चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता आशीष कुमार ने 69 किग्रा वर्ग के फाइनल में बेहतरीन क्लास का परिचय देते हुए दुर्योधन सिंह नेगी को 5-0 मात दी. स्थानीय खिलाड़ी जमुना बोरो ने वाई. संध्यारानी को 5-0 से हराया. 

विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता सोनिया को मात देने के बाद नीरज ने अपना दबदबा फाइनल में भी बरकरार रखा और मनीषा को 5-0 से पटकनी दी. विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता लवलिना बोरगोहेन को 69 किग्रा वर्ग के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा. उन्हें इटली की असुंता केनफोरा ने 3-2 से हराया. 

64 किग्रा वर्ग के फाइनल में रिंग में उतरे रोहित टोकस को पहले ही दौर में घुटने में चोट लगी और वे मुकाबला पूरा नहीं कर पाए. इसी कारण उनके विपक्षी मॉरिशस के कोलिन लुइस रिचार्नो को स्वर्ण पदक मिला. आशीष कुमार से 75 किग्रा वर्ग में स्वर्ण की उम्मीद थी लेकिन सेमीफाइनल में सिर पर लगी चोट के कारण वे रिंग में नहीं उतरे और उनके विपक्षी फिलिपिंस के फेलिक्स डेलोस सांतोस को स्वर्ण मिला.