close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IPL 2019: जानिए, अब कौन से कॉम्बिनेशन नहीं मिल सकेंगे इस साल के प्लेऑफ में

आईपीएल में कोलकाता और राजस्थान के बीच के हुए मैच के बाद प्लेऑफ में कुछ कॉम्बिनेशन्स नामुमकिन हो गए हैं. हालांकि अभी की प्लेऑफ की दौड़ से कोई भी टीम पूरी तरह से बाहर नहीं हुई है. 

IPL 2019: जानिए, अब कौन से कॉम्बिनेशन नहीं मिल सकेंगे इस साल के प्लेऑफ में
(फोटो फाइल )

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में गुरुवार को कोलकाता और राजस्थान के बीच हुए मैच से प्वाइंट टेबल की स्थिति में थोड़ी और सफाई आई. अब भी प्लेऑफ से पूरी तरह से बाहर होने वाली पहली टीम का नाम स्पष्ट नहीं हुआ है. फिलहाल सबका ध्यान इसी बात पर है कि प्वाइंट टेबल में कोलकाता, राजस्थान और बेंगलुरू 11 मैचों में 8 अंकों के साथ बराबारी पर हैं, उनके बीच में केवल नेट रनरेट का ही अंतर बचा है. अभी कुछ प्लेऑफ के कुछ काम्बिनेश्स ऐसे हैं जो इस सीजन में नामुमकिन हैं.

नीचे की टीमों का अलग है गणित
सबसे पहले नीचे की टीमें एक साथ प्लेऑफ में आ जाएं यह लगभग नामुमकिन हो गया है. पहले इसे ही समझा जाए. नीचे की तीनों टीमों को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए अपने तीनों मैच हर हाल में जीतने ही होंगे, लेकिन यह नामुमकिन है. नीचे की दो टीमें, राजस्थान और बेंगलुरू के बीच होने वाला मैच दोनों में से एक टीम को प्लेऑफ की दौड़ से पूरी तरह से बाहर कर देगा. लेकिन उससे पहले तक दोनों को ही अपने इकलौते मैच जीतने होंगे.  

यह भी पढ़ें: VIDEO: ज्योफ्रा आर्चर के छक्के ने राजस्थान की जीत को दिया शानदार फिनिशिंग टच

आखिरी दो में से केवल एक ही क्यों
इससे हमें एक काम्बिनेशन तो मिल ही जाता है कि इस सीजन में बेंगलुरू और राजस्थान एक साथ इस साल प्लेऑफ में बिलकुल नहीं दिखेंगे. अब देखते हैं कि इन टीमों का कोलकाता के साथ क्या कोई काम्बिनेशन बन सकता है. प्लेऑफ में टीमों के बीच अब केवल तीन स्थानों के लिए मुकाबला है, फिलहाल दूसरे नंबर पर दिल्ली, 14 अंकों के साथ है जिसके तीन मैच बाकी हैं. तीसरे और चौथे स्थान पर 10 मैच खेल चुकीं मुबई (12 अंक) और हैदराबाद (10 अंक) हैं  पांचवे स्थान पर पंजाब 11 मैचों में दस अंक के साथ काबिज है. 

कोलकाता इनके साथ प्लेऑफ में नहीं जा सकती
अब बात करें कोलकाता की तो उसके लिए भी अब बचे तीनों मैच करो या मरो की तरह हो गए हैं यानि कि उसे तीनों ही मैच जीतने हैं. उसे अभी दो मैच मुंबई के साथ और एक मैच पंजाब के साथ खेलना है. पंजाब के खिलाफ कोलकाता का मैच अहम मैच है क्योंकि अगर पंजाब यह मैच हार जाता है तो उसे हैदाराबद और चेन्नई के खिलाफ मैच हर हाल में जीतना ही होगा. ध्यान देने वाली बात यह है कि तब तक उसका हैदराबाद से मैच हो चुका होगा.

यह भी पढ़ें: VIDEO: विनोद कांबली ने गाया सचिन के बर्थडे पर दोस्ती का गाना, जवाब में मिला यह सवाल

पंजाब अगर कोई भी एक मैच हार कर बाकी दो जीतती है तो वह बेंगलुरू और राजस्थान को नेट रनरेट से बाहर कर ही देगी, कोलकाता के लिए मुश्किल बढ़ा देगी. ऐसे में हम प्लेऑफ में पंजाब, कोलकाता, बेंगलुरू और राजस्थान को एक साथ तो देखने से रहे क्योंकि ये टीमें चौथे स्थान के लिए ही मुकाबला करते दिखेंगी. 

कोलकाता पूरी तरह मुंबई पर निर्भर
कोलकाता का खेल मुंबई बिगाड़ सकती है. अगर मुंबई के खिलाफ कोलकाता दोनों मैच जीतती है तो मुंबई को बचे दो मैच जीतने ही होंगे. इनमें से एक मैच तो शुक्रवार को ही है. दूसरा हैदराबाद से है. मुंबई ये दोनों मैच हारकर नीचे की टीमों के साथ मुकाबला करने आ जाएगी और फिर बेहतर रन रेट के कारण बेंगलुरू, कोलकाता और राजस्थान तीनों को बाहर कर सकती है. यानि मुंबई, कोलकाता, पंजाब, राजस्थान और बेंगलुरू इन सभी में से चार का संयोजन में प्लेऑफ में नहीं दिखेगा. 

Point Table 26 APR

हैदराबाद के हाथ में भी है कुछ चाबियां
हैदराबाद की भूमिका बड़े गेमचेंजर की हो सकती है. अभी उसे राजस्थान, पंजाब, मुंबई और बेंगलुरू के साथ मुकाबला करना है. इन सबसे हारने पर ऊपर का गणित सही बैठेगा, लेकिन इन सबके खिलाफ जीत राजस्थान (और बेंगलुरू) और पंजाब का खेल भी बिगाड़ सकती है. पंजाब और हैदाराबाद के प्लेऑफ में आना मुश्किल होगा पर कोलकाता को दिल्ली या मुंबई दोनों आसानी से बाहर कर देंगी नेट रनरेट के कारण. इसे ऐसे समझें कि दूसरे तीसरे और चौथे स्थान के लिए दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद और पंजाब में जंग होगी जहां पंजाब सबसे कमजोर कड़ी है. ये सभी टीमें चौथे स्थान के लिए भी जद्दोजहद में आ सकती हैं. 

यह भी पढ़ें: VIDEO: IPL में हार्दिक के बाद इस यंग प्लेयर ने भी लगाया धोनी की तरह हेलीकॉप्टर शॉट 

और दिल्ली कितनी दूर है?
अब दिल्ली की भी बात कर ही लें. दिल्ली को बेंगलुरू, चेन्नई और राजस्थान से मैच खेलने हैं. दिल्ली के पास बेंगलुरू और राजस्थान दोनों को बाहर करने का मौका है. वहीं चेन्नई के साथ मुकाबला उसे बेहतर रैंकिंग दे सकता है. दिल्ली अगर तीनों मैच हार जाती है तो वह नीचे की तीन टीमों में से एक के मुकाबले में आकर भी तीनों को नेट रनरेट से बाहर कर सकती है.