मैरी कॉम ने निखत को हराकर जीता ओलंपिक ट्रायल, पर हाथ नहीं मिलाया, दोनों में बढ़ी तकरार

Indian Boxing: ओलंपिक क्वालीफायर ट्रायल्स में मैरी-निखत के बीच हुए मुकाबले के नतीजे के बाद मैरी कॉम ने निखत से हाथ नहीं मिलाया इस पर दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ बयान दिए. 

मैरी कॉम ने निखत को हराकर जीता ओलंपिक ट्रायल, पर हाथ नहीं मिलाया, दोनों में बढ़ी तकरार
मैरी कॉम निखत के बीच का विवाद आज का नहीं बहुत पुराना है. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: ओलंपिक क्वालीफायर ट्रायल्स के लिए एमसी मैरी कॉम (MC Marry Kom) और निखत जरीन (Nikhat Zareen) के बीच हुए बहुप्रतीक्षित मुकाबले में मैरी कॉम की जीत तो हुई. लेकिन दोनों खिलाड़ियों के बीच पहले से चली आ रही तल्खी एक बार फिर सामने आ गई. जहां मैच में जीत के बाद मैरीकॉम ने निखत से हाथ नहीं मिलाया तो वहीं निखत ने भी मैच के बाद कहा कि उन्हें मैरी कॉम का यह रवैया अच्छा नहीं लगा.

निखत और मैरी कॉम के बीच इस तरह का मामला कोई पहला नहीं हैं. पहली भी कई बार मैरी कॉम निखत को अहमियत देने से साफ तौर मुकर चुकी हैं. वहीं निखत ने भी मैरी कॉम के बिना ट्रायल्स के ओलंपिक के लिए चुने जाने वाले फैसलों के खिलाफ लगातार संघर्ष किया है. 

यह भी पढ़ें: मैरी कॉम ने ओलंपिक ट्रायल्स में निखत को हराया, अब टोक्यो के लिए यहां होगा इम्तिहान

मैच के बाद निखत ने कहा, "मुझे अच्छा नहीं लगा जिस तरह से उन्होंने (मैरीकॉम) ने व्यवहार किया. क्योंकि जब नतीजा घोषित हुआ तो मैंने उनसे गले मिलने की कोशिश की लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. एक जूनियर होने के नाते मैं सीनीयरों से अपेक्षा करती हैं कि वे जूनियरों को भी सम्मान दें. मुझे बुरा लगा."

यह हुआ था मैच के बाद 
मैरी ने निखत से मैच जीतने के बाद हाथ मिलाने या गले मिलने तक से इनकार कर दिया था. मैरी ने कहा, "मैं उनसे हाथ क्यों मिलाऊं, अगल वे दूसरे से सम्मान चाहती हैं तो उन्हें पहले दूसरों को सम्मान देना होगा. इस तरह के मिजाज के लोगों को मैं पसंद नहीं करती. आप केवल रिंग में खुद को साबित करें बाहर नहीं."

मैरी ने उनके और निखत के बीच विवाद पर कहा, "पहले ही काफी हो चुका है. यदि आप मेरा इंटरव्यू लेना चाहते हैं तो अनावश्यक सवाल न पूछे. यह कोई पहली बार नहीं है. मैं कई बार (निखत को) हराया है. मैं विवाद पसंद नहीं करती. मैं केवल आने वाले बड़े मुकाबलों पर ध्यान दे रही हूं और देश के लए पदक जीतना चाहती हूं. आप रिंग में साबित कीजिए."
(इनपुट एजेंसी  से भी)