close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में नहीं खेलेंगी मारिन, पीवी सिंधु बोलीं- इससे चुनौती कम नहीं होगी

भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधु का कहना है कि मारिन की गैर मौजूदगी में भी आल इंग्लैंड जीतना आसान नहीं होगा. 

ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में नहीं खेलेंगी मारिन, पीवी सिंधु बोलीं- इससे चुनौती कम नहीं होगी
पीवी सिंधु के बड़ी प्रतिद्वंदी कैरोलिना मारिन ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में नहीं खेलेंगी. (फाइल फोटो)

मुंबई: भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधुने गुरूवार को कहा कि ओलंपिक चैम्पियन कैरोलिना मारिन के चोटिल होने के कारण बाहर रहने के बावजूद आल इंग्लैंड चैम्पियनशिप जीतना आसान नहीं होगा. आल इंग्लैंड चैम्पियनशिप छह मार्च से खेली जायेगी. रियो ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधु का मानना है कि महिला एकल खिताब जीतने के लिये उसे वहां अपना सौ फीसदी देना होगा. बैडमिंटन के सबसे बड़े टूर्नामेंट में एक ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप अगले महीने खेली जाएगी. 

कैरोलिना मारिन पिछले महीने ही इंडोनेशिया मास्टर्स के फाइनल में वर्ल्ड नम्बर-9 भारतीय महिला खिलाड़ी साइना नेहवाल के खिलाफ रिटायर्ड हर्ट होकर बीच मैच से बाहर हो गईं थी. ऐसे में साइना मास्टर्स की विजेता घोषित कर दिया गया था. मारिन और साइना के बीच का मैच केवल सात मिनट तक चल पाया था कि सर्विस लेने दौरान मारिन को पैर में चोट लग गई. तब मारिन ने मैच से हटने का निर्णय लिया. साइना शुरूआती गेम में 4-10 से पिछड़ रही थीं. 

सिंधु को दिक्कत होती है मारिन को हराने में
भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ियों को, खास तौर पर पीवी सिंधु को कैरोलीना मारिन के खिलाफ खेलने में काफी दिक्कत होती है. रियो ओलम्पिक की स्वर्ण पदक विजेता मारिन ने सिंधु को इंडोनेशिया मास्टर्स के महिला एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में आसानी से हरा दिया था. स्पेनिश दिग्गज ने सिंधु पर उनके खिलाफ आठवीं जीत हासिल की जबकि सिंधु, मारिन के खिलाफ अभी तक पांच मैच ही जीत पाई हैं.

यह भी पढ़ें: कैरोलिना मारिन ने सिंधु को इंडोनेशिया मास्टर्स से किया बाहर

सिंधु ने बीमा कंपनी पीएनबी मेटलाइफ की ब्रांड दूत बनने के बाद कहा, ‘‘आल इंग्लैंड चैम्पियनशिप सबसे बड़े टूर्नामेंटों में से एक है. मुझे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा. इसे जीतना आसान नहीं है. हम सभी को सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाना होगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उसके बाद कुछ सुपर सीरिज होंगी और फिर ओलंपिक क्वालीफिकेशन की तैयारी करनी है जिसके लिये हम सभी को फिट और स्वस्थ रहना होगा.’’ 

अकेले मारिन ही चुनौती नहीं 
कोच विमल कुमार ने कहा था कि स्पेन की कैरोलिना के बाहर रहने से साइना और सिंधु के पास खिताब जीतने का सुनहरा मौका है. सिंधु ने कहा, ‘‘मारिन के घुटने का आपरेशन हुआ है. यह दुखद है लेकिन चोट कैरियर का हिस्सा है. उम्मीद है कि वह मजबूती से वापसी करेगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उसके नहीं खेलने के बावजूद यह आसान नहीं होगा. शीर्ष दस 15 खिलाड़ियों का स्तर समान है. आप यह नहीं मान सकते कि ड्रा आसान होगा. चेन युफेइ, हि बिंगजियाओ, सुंग जि ह्यून और रेचानोक इंतानोन सभी बराबरी की हैं.’’ 

गोपीचंद को है सिंधु के जीतने की उम्मीद
भारतीय बैडमिंटन टीम को कोच पुलेला गोपीचंद ने शुक्रवार को कहा कि देश की अग्रणी महिला खिलाड़ी पी.वी. सिंधु इस साल होने वाले ऑल इंग्लैंड और विश्व चैम्पियनशिप में जीत का परचम लहराने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. सिंधु ने जिस तरह से 2018 का अंत किया है उसे देखकर उम्मीद है कि वह इस साल ऑल इंग्लैंड चैम्पियनशिप जीत भारत के 18 साल के सूखे को खत्म करेंगी. सिंधु ने 2018 का अंत वर्ल्ड टूर फाइनल्स की जीत के साथ किया था.
(इनपुट भाषा)