close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

water crises

2020 तक बूंद-बूंद पानी को तरसेंगे 21 जिले, बिहार सरकार इन जिलों में पहुंचाएगी पानी

बिहार सरकार ने कहा है कि सुखाड़ से सबसे प्रभावित चार जिलों में गंगा का पानी पहुंचाया जाएगा. 

Aug 14, 2019, 02:52 PM IST

कोरिया में पानी को लेकर मचा है हाहाकार, दर-दर भटक रहे हैं लोग

जहां देश में एक तरफ भीषण गर्मी से लोग परेशान हैं. दिल्ली जैसे बड़े शहरों में फिर भी पानी की समस्या कम है, लेकिन कुछ इलाके ऐसे भी हैं जहां पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है.

Jun 12, 2019, 03:26 PM IST

आज के हिंदुस्तान की शर्मनाक तस्वीर , बूंद बूंद के लिए तरसते लोग, हमारी हुकुमतों पर खड़े करते कई सवाल

मुल्क की कई रियासतें भारी पानी के बोहरान से गुज़र रही हैं...मुल्क के 91 Reservoirs में पानी की 20 फीसद कमी आई है...इन जगहों पर लोगों को पीने के पानी की एक-एक बूंद को जमा करना किसी जंग से कम नहीं है

Jun 3, 2019, 06:35 PM IST

हम कब समझेंगे पानी की एक बूंद की कीमत

पानी की कमी हमें कहां तक ले जाएगी, ये आज का गम्भीर विषय है. हमें समय रहते ही सचेत होना होगा. पानी की कमी से हमें भविष्य में अनेक मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है.

Sep 1, 2018, 12:36 PM IST

पहले बाढ़ और फिर सूखे की खबरें सुनने के लिए कितने तैयार हैं हम...

अभी पता नहीं है कि मानसून कैसा रहेगा. लेकिन इतना जरूर पता है कि चाहे सामान्य बारिश हो या सामान्य से ज्यादा, देश में अलग-अलग जगह आसमान बारिश और जल कुप्रबंधन के कारण कई जगह बाढ़ और 4-6 महीने बाद कई जगह सूखा पड़ेगा ही. यह पूर्वानुमान पिछले दो दशकों के अनुभव के आधार पर है.  

Jun 22, 2018, 03:25 PM IST

बुंदेलखंड: 60 फीसदी पानी के स्‍त्रोत सूखे, 50 फीसदी लोगों ने किया पलायन

राजेद्र सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक बुंदेलखंड के 60 फीसदी से ज्यादा जल स्त्रोत पूरी तरह सूख चुके हैं जिस वजह से 50 फीसदी से ज्यादा लोग पलायन कर गए हैं. 

मई 18, 2018, 03:20 PM IST

पानी के ओवरडोज से भी होता है शरीर को नुकसान

पानी के ओवरडोज से भी होता है शरीर को नुकसान

Mar 22, 2018, 04:25 PM IST

वर्ल्ड वॉटर डे : केपटाउन के बाद भारत के इस शहर पर मंडरा रहा है जलसंकट

बेंगलुरु का भूमि जल स्तर पिछले दो दशक में 10-12 मीटर से गिरकर 76-91 मीटर तक जा पहुंचा है. साथ ही शहर में बोर-वेल की संख्या तीस साल में पांच हजार से बढ़कर 4.5 लाख हो गई है. 

Mar 22, 2018, 10:16 AM IST

निर्जल नगरी सूखत जाए

हमने पानी को बरबाद जितनी तेजी से किया उसे सरंक्षित करने के लिए उतने कड़े कदम कभी नहीं उठाए. जो हाल कैपटाउन शहर का हो रहा है वो हाल भारत में भी बन रहे हैं. बैंगलूरू उन शहरों में से है जहां कभी भी डे ज़ीरो की स्थिति पैदा हो सकती है

Feb 24, 2018, 05:49 PM IST