close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चीन ने पहले कनाडाई नागरिक को दी फांसी, फिर जमाई धौंस, कहा- उल्टा-सीधा बयान मत दीजिए

फांंसी की घटना ने दोनों देशों के बीच जारी राजनयिक तनाव को और बढ़ा दिया है.

चीन ने पहले कनाडाई नागरिक को दी फांसी, फिर जमाई धौंस, कहा- उल्टा-सीधा बयान मत दीजिए
.(फाइल फोटो)

बीजिंग: चीन ने मंगलवार को कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के उस बयान पर सख्त नाराजगी जाहिर की जिसमें ट्रूडो ने चीन में मादक पदार्थों की तस्करी के दोषी कनाडाई नागरिक को मौत की सजा सुनाए जाने की आलोचना की थी. चीन ने ट्रूडो के बयान को "गैर-जिम्मेदाराना" करार दिया है. चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा, "हम कनाडा से कानून के शासन और चीन की न्यायिक संप्रभुता का सम्मान करने की उम्मीद करते हैं. उसे अपनी गलती मानकर इस तरह के गैर-जिम्मेदाराना बयान देना बंद कर देना चाहिये." गौरतलब है कि चीन की एक अदालत ने सोमवार को कनाडा के एक व्यक्ति रॉबर्ड ल्योड शिलेनबर्ग (36) को मादक पदार्थ की तस्करी के आरोप में मौत की सजा सुनाई थी.

शिलेनबर्ग को 2014 में लियाओनिंग प्रांत से गिरफ्तार किया गया था. इससे पहले उसे 15 साल जेल की सजा सुनाई गई थी. चीन के इस फैसले को कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने मनमाना कदम करार दिया था. 

कनाडाई नागरिक को फाँसी की सजा पर, कनाडा ने अपने नागरिकों से सावधानी बरतने को कहा
चीन में नशीली दवाओं की तस्करी के आरोप में एक कनाडाई नागरिक को फाँसी की सजा सुनाए जाने के बाद कनाडा ने अपने नागरिकों को चीन की यात्रा करते समय "अत्यधिक सावधानी बरतने" का परामर्श जारी किया है. समीक्षा के बाद जारी परामर्श में यात्रियों को "स्थानीय कानूनों के मनमाने ढंग से लागू किए जाने के जोखिम" से सावधान करते हुए कहा गया है कि "सुरक्षा की स्थिति संक्षिप्त सूचना देकर बदली जा सकती है".

गौरतलब है कि सोमवार को चीन की एक अदालत ने कनाडा के नागरिक रॉबर्ट लॉयड स्केलेनबर्ग को नशीले पदार्थों की तस्करी के आरोप में मौत की सजा सुनाई थी. उसे पहले 15 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी, लेकिन उसे मुकम्मल सजा नहीं मानते हुये अदालत ने यह फैसला दिया. 36 वर्षीय स्केलेनबर्ग ने अदालत के मूल फैसले के खिलाफ अपील की थी.

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने चीन पर मृत्युदंड के जरिये ‘‘मनमानी’’ करने का आरोप लगाया है. इस घटना ने दोनों देशों के बीच जारी राजनयिक तनाव को और बढ़ा दिया है. यह घटना ऐसे समय में हुई है जब पिछले महीने ही एक बड़ी दूरसंचार कंपनी हुआवेई के एक शीर्ष अधिकारी को कनाडा में गिरफ्तार कर लिया गया था, जिसको लेकर चीन ने कड़ा एतराज जताया था. 

इनपुट भाषा से भी