close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पीएम मोदी और ट्रंप सुलझाएंगे अहम मुद्दे, डिनर पर खास दोस्‍त की तरह बति‍याते द‍िखे

जापान के प्रधानमंत्री ने ओसाका में शुक्रवार को जी20 के नेतााओं के लिए एक ड‍िनर पार्टी का आयोजन किया. इसमें पीएम मोदी और डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच अच्‍छी बॉन्‍ड‍िंग देखने को म‍िली.

पीएम मोदी और ट्रंप सुलझाएंगे अहम मुद्दे, डिनर पर खास दोस्‍त की तरह बति‍याते द‍िखे

ओसाका: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की जी20 के इतर मुलाकात हुई. दोनों इस बात पर सहमत हुए कि वह दोनों मिलकर अहम मुद्दों को सुलझाएंगे. पीएम मोदी ने पहले ही साफ कर दिया कि वह ट्रंप के साथ मुलाकात में ईरान, व्‍यापार मुद्दे जैसे मसले उठाएंगे. दोनों इस बात पर सहमत हुए कि दिल्‍ली और वॉशिंगटन के बीच अच्‍छे संबंधों के लिए जरूरी है कि दोनों देशों के व्‍यापारिक रिश्‍ते अच्‍छे रहें. इसके लिए जल्‍द ही दोनों देशों के वाणिज्‍य मंत्री मुलाकात करेंगे. इसके लिए जल्‍द ही तारीख घोषित की जाएगी.

उधर जापान के प्रधानमंत्री ने ओसाका में शुक्रवार को जी20 के नेतााओं के लिए एक ड‍िनर पार्टी का आयोजन किया. इसमें पीएम मोदी और डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच खास बॉन्‍ड‍िंग देखने को म‍िली. दोनों एक दूसरे के पास बैठे हुए थे. ड‍िनर के दौरान वह डोनाल्‍ड ट्रंप से खास दोस्‍त की तरह बत‍ियाते हुए द‍िखाई द‍िए. इस दौरान जब डोनाल्‍ड ट्रंप ने उनसे धीरे से कान में कुछ कहा तो पीएम मोदी जोर से ठहाका लगाते हुए दि‍खाई द‍िए.

इससे पहले पीएम मोदी और ट्रंप के बीच हुई बैठक में पीएम ने ईरान से संबंधित तनावों पर भारत की चिंताओं से डोनाल्ड ट्रंप को अवगत कराया. कहा कि क्षेत्र में 'अस्थिरता' ऊर्जा के अतिरिक्त 'कई मायनों' में भारत को प्रभावित करती है. विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा, प्रधानमंत्री ने अमेरिकी राष्ट्रपति से कहा कि भारत ने ईरान से तेल आयात घटाया है, बावजूद इसके कि ईरान भारत की ऊर्जा का 11 प्रतिशत आपूर्ति करता है.

उन्होंने कहा, "ईरान पर, प्राथमिक फोकस था. इस क्षेत्र में अस्थिरता हमें कई मायनों में प्रभावित करती है, न सिर्फ हमारी ऊर्जा जरूरतों के लिहाज से, बल्कि खाड़ी में मौजूद लगभग 80 लाख भारतीय प्रवासियों और आर्थिक हितों के संदर्भ में भी प्रभावित करती है." इसके अलावा भारत ने 5जी के मुद्दे पर भी चर्चा की. भारत की मुख्‍य चिंता इस बात को लेकर है कि वह चीन के हुआवेई के 5 जी का इस्‍तेमाल किया जाए या  नहीं. हालांक‍ि इस बैठक में रूस से खरीदे जाने वाले एस400 को लेकर कोई चर्चा नहीं की गई.