ZEE जानकारी: अपनी सारी ऊर्जा आतंकवाद पर खर्च कर देने वाला देश, पाकिस्तान

इसका सबसे बड़ा उदाहरण है बांग्लादेश. अगर बांग्लादेश की तरह पाकिस्तान से टूटकर कुछ और देश बन जाएं तो उन देशों का बहुत अच्छा विकास हो सकता है. 

ZEE जानकारी: अपनी सारी ऊर्जा आतंकवाद पर खर्च कर देने वाला देश, पाकिस्तान

पाकिस्तान एक ऐसा देश है जिसे failed state यानी एक नाकाम राष्ट्र भी कहा जाता. और इसकी सबसे बड़ी वजह ये है कि पाकिस्तान ने अपनी सारी ऊर्जा आतंकवाद पर खर्च कर दी और अपने नागरिकों का ख्याल नहीं रखा. आज स्थिति ये है कि पाकिस्तान का विभाजन होना वहां के लोगों के लिए शुभ है. इसका सबसे बड़ा उदाहरण है बांग्लादेश. अगर बांग्लादेश की तरह पाकिस्तान से टूटकर कुछ और देश बन जाएं तो उन देशों का बहुत अच्छा विकास हो सकता है. 

इस बात को कहने का आधार ये है कि आज बांग्लादेश, हर मोर्चे पर पाकिस्तान से आगे निकल चुका है. 

वर्ष 1971 में भारत से युद्ध हारने के बाद पाकिस्तान के दो टुकड़े हो गए थे. और बांग्लादेश का निर्माण हुआ था. इसके बाद वर्ष 1975 में बांग्लादेश की विकास दर - 4.1 % और पाकिस्तान की विकास दर 4.2 % थी . 

वर्ष 1985 में बांग्लादेश की विकास दर 3.3 % और पाकिस्तान की विकास दर 7.6 % थी . 

यहां Note करने वाली बात ये है कि 1971 और 1985 में बांग्लादेश की विकास दर, पाकिस्तान से कम थी . 

लेकिन वर्ष 1995 में बांग्लादेश की विकास दर 5.1 % और पाकिस्तान की विकास दर 4.9 % हो गई. 
यानी बांग्लादेश, पाकिस्तान से आगे निकल गया.

वर्ष 2018-19 में बांग्लादेश की विकास दर 7.5 % थी और पाकिस्तान की विकास दर 4.8 % थी. 

अगर हम जनसंख्या वृद्धि दर की बात करें तो वर्ष 1975 में बांग्लादेश की जनसंख्या वृद्धि दर 2.01 % और पाकिस्तान की जनसंख्या वृद्धि दर 2.91 % थी . 

वर्ष 2017 में बांग्लादेश की जनसंख्या वृद्धि दर 1.05 % और पाकिस्तान की जनसंख्या वृद्धि दर 1.95 %
थी . 

बांग्लादेश के लोग, पाकिस्तान के लोगों के मुकाबले 6 वर्ष ज्यादा जीते हैं. 

वर्ष 1990 के मुकाबले वर्ष 2017 में बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति आय में 5 गुना वृद्धि हुई . और इसी समय सीमा में पाकिस्तान की प्रति व्यक्ति आय सिर्फ 2 गुना बढ़ी.

कुल मिलाकर पाकिस्तान का विभाजन वहां रहने वाले लोगों के लिए शुभ है. ये एक ऐसा सच है, जो पाकिस्तान को बहुत चुभ रहा है.